Home » Loose Top » ‘लव जिहाद’ ने ली एक और बलि, शेरू खान ने नैना कौर को चाकू गोदकर मार डाला
Loose Top

‘लव जिहाद’ ने ली एक और बलि, शेरू खान ने नैना कौर को चाकू गोदकर मार डाला

हत्या के आरोपी शेरू खान की तस्वीर

देशभर में लव जिहाद के लिए लड़कियों की हत्याओं का सिलसिला जारी है। ताज़ा मामला यूपी के ग़ाज़ियाबाद का है, जहां 19 साल की नैना कौर को शेरू खान नाम के लड़के ने सरेआम चाकू घोंप कर मार डाला। ये घटना बुधवार (17 जून) शाम की है, जब नैना अपने माता-पिता के साथ घर लौट रही थी। खून से लथपथ हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन जान नहीं बच पाई। नैना के पिता 62 साल के बलदेव सिंह और माँ 58 साल की नीलम कौर हैं। नैना की 22 जून को शादी होने वाली थी। वो इसी की तैयारियों में व्यस्त थी। यह बात सामने आई है कि पिछले कुछ समय से शेरू खान नाम का एक लड़का उसका पीछा कर रहा था। यह भी पढ़ें: लव जिहाद के जाल से बाल-बाल बची लड़की की आपबीती

गोश्त काटने वाले चाकू से हत्या

नर्सिंग का कोर्स कर रही नैना कौर घटना के समय अपने माता-पिता के साथ बाज़ार गई थी। वहाँ पर परिवार के लोग एक चाट की दुकान पर कुछ देर रुके तभी बाइक पर सवार तीन लड़कों ने उन पर हमला बोल दिया। उन्होंने सबसे पहले नैना पर वार किया और उसे बुरी तरह घायल कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मुख्य आरोपी शेरू खान के हाथ में गोश्त काटने वाला चाकू था। बुजुर्ग माता-पिता ने बेटी को बचाने की कोशिश की, लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। घटना के बाद तीनों बाइक से ही फ़रार हो गए। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान बाज़ार में मौजूद लोग तमाशबीन बने रहे। यह भी पढ़ें: ब्राह्मण 5 लाख, दलित 2 लाख, पढ़िए लव जिहाद का रेट कार्ड

ज़बरदस्ती करना चाहता था शादी

यह बात सामने आई है कि लड़की का परिवार पहले दिल्ली के सुंदरनगरी में रहता था। वहाँ पर वो जिस स्कूल में पढ़ती थी वहीं शेरू खान नाम का यह लड़का भी पढ़ता था। वहीं से वो उसका पीछा करने लगा था। जब नैना ने इसका विरोध किया तो भी वो नहीं माना। जब नैना की शादी तय हो गई तो उसने उससे ठीक पहले हत्या की योजना बना ली। फ़िलहाल मुख्य आरोपी की तलाश जारी है और बाइक पर उसके साथ आए दोनों साथी आसिफ़ (22 साल) और आमिर (20 साल) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने तीनों के ख़िलाफ़ दफ़ा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें: बापू से मोरारी बापू तक… हिंदू धर्म के इस्लामीकरण की कोशिश जारी है

शादी से पहले छीन ली खुशियां

नैना और उसका पूरा परिवार 20 जून को ट्रेन से महाराष्ट्र के नागपुर जाने वाला था। जहां पर उसकी शादी 22 जून को तय हुई थी। शादी के लिए सारी ख़रीदारी भी पूरी हो चुकी थी। उससे ठीक पहले एक लव जिहादी ने एक और हंसते-खेलते परिवार की ख़ुशियाँ छीन लीं। यह भी पढ़ें: राँची की शूटर तारा शाहदेव को आप भूले तो नहीं?

लव जिहाद में आए दिन हत्याएँ

अभी कुछ दिन पहले ही लुधियाना में रहने वाली एकता का मामला सामने आया था, जिससे शाकिब नाम के लव जिहादी ने ‘अमन’ बनकर शादी कर ली थी और अपने साथ मेरठ में अपने घर ले आया। जब एकता को सच्चाई पता चली तो शाकिब ने अपने पूरे परिवार के साथ मिलकर एकता की बेरहमी से हत्या कर दी थी। शाकिब के साथ घर से भागते वक़्त एकता अपने साथ लाखों रुपये के गहने भी लेकर भागी थी। इसी तरह मुरादाबाद में एक मुस्लिम महिला ने अपनी सौतन की गोली मारकर हत्या कर दी। बाद में पता चला कि वो प्रेगनेंट थी और कुछ दिन पहले ही लव जिहाद में फँसकर उसकी शादी एक मुस्लिम लड़के से हुई थी। यह भी पढ़ें: 60 हिंदू नामों वाला लव जिहादी निकला पेशे से कार मैकेनिक

महामारी बन चुका है लव जिहाद

एक अनुमान के मुताबिक़ देश में हर साल 20 से 30 हज़ार लड़कियाँ लव जिहाद के चक्कर में फँसा कर मुसलमान बनाई जा रही हैं। इनमें से लगभग 10 फ़ीसदी मार दी जाती हैं। शिकार होने वालों में हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन और ईसाई शामिल हैं। ज़्यादातर मामलों में मुस्लिम लड़के पहचान छिपाकर शादी करते हैं। जिन मामलों में पहचान नहीं छिपाते वहाँ भी शादी के बाद धर्मांतरण ज़रूर करवाते हैं। आमिर खान, शाहरुख़ खान, सैफ़ अली खान ये सभी इसी तरह के लव जिहाद के उदाहरण हैं। यह बात भी सामने आ चुकी है कि लव जिहाद के लिए मस्जिदों के ज़रिए काफ़ी पैसा दिया जाता है। इतना ही नहीं पुलिस केस में फँसने वालों को क़ानूनी मदद भी मुहैया कराई जाती है।

(न्यूज़लूज़ टीम)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

अपनी लिखी पोस्ट या जानकारी साझा करें 

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!