Home » Loose Top » कांग्रेस की विधायक ने ही बस घोटाले पर प्रियंका वाड्रा को दिखाया आईना
Loose Top

कांग्रेस की विधायक ने ही बस घोटाले पर प्रियंका वाड्रा को दिखाया आईना

उत्तर प्रदेश में मज़दूरों के लिए एक हज़ार बसें देने का झूठ प्रियंका गांधी वाड्रा पर भारी पड़ता दिख रहा है। इस मामले के कारण हुई फ़ज़ीहत के चलते कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में भारी नाराज़गी देखने को मिल रही है। रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने सबसे पहले बगावत की आवाज बुलंद की है। अदिति सिंह ने ट्वीट करके लिखा है कि मजदूरों के नाम पर पार्टी नेताओं ने जो राजनीति की है वो एक ‘क्रूर मज़ाक’ है। उनकी सबसे ज्यादा नाराजगी बसों की लिस्ट में ढेरों ऑटोरिक्शा, स्कूटी और कबाड़ गाड़ियां पाए जाने को लेकर है। दरअसल कांग्रेस पार्टी ने जो हजार बसों का ब्यौरा यूपी सरकार को दिया था उनमें से ज्यादातर फर्जी पाई गई हैं। इसके कारण पूरे देश में कांग्रेस पार्टी और प्रियंका वाड्रा की जगहंसाई हो रही है। खास बात यह है कि अदिति सिंह प्रियंका वाड्रा और सोनिया गांधी की बेहद करीबी मानी जाती हैं। सोनिया गांधी रायबरेली से सांसद हैं। माना जाता है कि वहां पर उनकी जीत में अदिति सिंह के पिता अखिलेश सिंह के समर्थन का बड़ा योगदान होता रहा है। पिछले साल अगस्त में अखिलेश सिंह का निधन हो गया। उनकी राजनीतिक विरासत को बेटी अदिति सिंह ही संभाल रही हैं। यह भी पढ़ें: अब कांग्रेस का बस घोटाला, वाहनों की लिस्ट में स्कूटी और ऑटोरिक्शा के नंबर

पार्टी हाईकमान पर करारा हमला

विधायक अदिति सिंह ने ट्विटर पर लिखा है कि “आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत थी? एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा निकला। 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा और एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के। ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र में क्यों नहीं लगाई।” अदिति सिंह ने इस मामले पर कांग्रेस की कमजोर नस भी दबा दी। उन्होंने पूछा कि “कोटा में जब उत्तर प्रदेश के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बार्डर तक भी ना छोड़ पाई थी। उन्होंने इस ट्वीट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ़ भी की है कि उन्होंने यूपी के हज़ारों बच्चों को कोटा से रातों रात उनके परिवारों तक पहुँचाया था। यह भी पढ़ें: जब कोटा से लौटी छात्रा से योगी ने माँगा बस का किराया!

कौन हैं विधायक अदिति सिंह?

अदिति सिंह 2017 में यूपी विधानसभा चुनावों के साथ ही राजनीति में उतरी थीं। उनके पिता रायबरेली के जाने-माने दबंग राजनेता रहे हैं। पहले वो विधायक चुने जाते थे। लेकिन जब उनकी तबीयत ख़राब रहने लगी तो बागडोर अदिति ने सँभाल ली। 15 नवंबर 1987 को जन्मी अदिति सिंह यूपी विधानसभा में सबसे कम उम्र की विधायक हैं। 2017 चुनाव में कांग्रेस को यहाँ से सिर्फ़ 7 सीटें मिली थीं, जिनमें से एक अदिति सिंह थीं। उन्होंने अमेरिका की ड्यूक यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। लोकसभा चुनाव के समय उन्हें यूपी में प्रियंका वाड्रा की कोर टीम का सदस्य माना जाता था। अदिति ने पिछले साल नवंबर में ही शादी की। उनके पति अंगद सिंह पंजाब के नवांशहर से कांग्रेस पार्टी के ही विधायक हैं। नीचे आप अदिति सिंह का वो ट्वीट देख सकते हैं जिसके कारण कांग्रेस पार्टी का अंदरूनी विवाद सतह पर आ गया है।

(न्यूज़लूज़ टीम)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!