Home » Loose Top » भगोड़े नीरव मोदी को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने भेजा वकील!
Loose Top

भगोड़े नीरव मोदी को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने भेजा वकील!

बायीं तस्वीर में राहुल गांधी के साथ अभय थिप्से को देखा जा सकता है। 2018 में पद से रिटायर होते ही उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ले ली थी।

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की मदद के लिए कांग्रेस पार्टी सामने आई है। पार्टी के नेता अभय थिप्से को यह ज़िम्मेदारी मिली है। अभय थिप्से बांबे और इलाहाबाद हाई कोर्ट के जज रह चुके हैं। 2018 में रिटायरमेंट के बाद उन्होंने फ़ौरन जाकर कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ले ली थी। अभी ब्रिटेन की कोर्ट में नीरव मोदी के ख़िलाफ़ केस चल रहा है। बुधवार को नीरव मोदी के वकील के तौर पर कांग्रेस नेता अभय थिप्से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए पेश हुए। उन्होंने दलील दी कि सीबीआई ने नीरव मोदी के ख़िलाफ़ जो केस बनाया है वो भारतीय अदालतों में एक भी दिन नहीं टिक पाएगा। सीबीआई ने नीरव मोदी पर आपराधिक षड्यंत्र, धोखाधड़ी और बेईमानी जैसे आरोपों में केस दर्ज किया है। कांग्रेस नेता ने नीरव मोदी के बचाव में जो सबसे बड़ी दलील दी वो यह कि किसी के साथ कोई धोखाधड़ी या ठगी नहीं हुई है। इससे पहले भगोड़े विजय माल्या के बचाव में भी कांग्रेस ने कानूनी मदद करने की कोशिश की थी। तब न्यूज़लूज़ ने उसका सबसे पहले खुलासा किया था। पढ़ें वो रिपोर्ट: लंदन में माल्या की मदद कर रही है कांग्रेस

‘बैंकों के साथ कोई ठगी नहीं हुई’

कांग्रेस नेता अभय थिप्से ने कहा कि “नीरव मोदी ने ऋण देने वाले बैंकों के साथ जो लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) किया है उससे ज़ाहिर है कि कोई धोखाधड़ी या ठगी नहीं हुई।” ये मामला लंदन के वेस्टमिनिस्टर कोर्ट में चल रहा है। बुधवार को इसकी तीसरे दिन की सुनवाई थी। इस दौरान सीबीआई और ईडी के वकील भी वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए भारत से मौजूद रहे। कांग्रेस नेता अभय थिप्से ने नीरव मोदी के बचाव में फ़्रांस की ज्वैलरी कंपनी चौमेट (Chaumet) के पूर्व सीईओ थेरी फ्रिश्च को गवाह के रूप में पेश किया। जिन्होंने बयान दिया कि नीरव मोदी की सेवाओं की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं थी। उन्होंने कोर्ट को बताया कि नीरव मोदी तो शेयर बाजार में अपना आईपीओ लाने की तैयारी में था। ऐसे में उस पर धोखाधड़ी के आरोप सही नहीं हो सकते। कुल मिलाकर कांग्रेस नेता और वकील अभय थिप्से ने यह साबित करने की कोशिश की कि भारत सरकार ने नीरव मोदी को जानबूझकर परेशान किया।

नीरव मोदी पर क्या हैं आरोप?

हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोक्सी पर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में दो अरब डॉलर के लोन घोटाले का आरोप है। 2014 से पहले कांग्रेस के शासनकाल में बैंक अधिकारियों से साँठगाँठ करके उसने क़र्ज़ के तौर पर यह रक़म हासिल की थी। रक़म लौटाने में नाकाम रहने के बावजूद बैंक ने उसे पैसा देना जारी रखा। इससे पहले कि पीएनबी इस जालसाज़ी की जानकारी सीबीआई से करता, नीरव मोदी और मेहुल चोक्सी देश छोड़कर भाग गए। माना जाता है कि बैंक के अधिकारियों ने ही उसे भागने में मदद की थी। कांग्रेस के बाग़ी नेता शहज़ाद पूनावाला ने कुछ समय पहले राहुल गांधी और नीरव मोदी की सीक्रेट मुलाक़ात का आरोप लगाया था। कांग्रेस ने उसका आजतक खंडन नहीं किया है। नीरव इस समय दक्षिण-पश्चिम लंदन के वांड्सवर्थ जेल में बंद है। पिछले साल मार्च में 48 साल के नीरव मोदी को गिरफ्तार किया गया था। भारत सरकार उसके प्रत्यर्पण की कोशिश में है। बीजेपी ने इस मामले पर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया है।

कौन हैं कांग्रेस नेता अभय थिप्से?

ये वही जज हैं जिन्होंने बांबे हाई कोर्ट में रहते हुए 2015 में सलमान खान को हिट एंड रन के मामले में जेल जाने से बचा लिया था। उस मामले में साफ़ था कि न्यायिक प्रक्रियाओं के साथ खिलवाड़ हुआ है। वो शतरंज खिलाड़ी प्रवीण थिप्से के भाई हैं। अभय थिप्से आतंकवादियों और नक्सलियों के लिए अपने नरम रुख़ के कारण भी बदनाम रहे हैं। उन्होंने अगस्त 2019 में एक किताब के लॉन्च में हिस्सा लिया था, जिसमें इस्लामी आतंकवादियों के हमलों के लिए हिंदुओं को ज़िम्मेदार ठहराया गया है। नीरव मोदी के केस में अगर वो बतौर वकील पेश हो रहे हैं तो यह बिना कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अनुमति के संभव नहीं है क्योंकि नीरव मोदी के मामले में कांग्रेस बेहद हमलावर रही है और उसके भागने के लिए पीएम मोदी को ज़िम्मेदार ठहराती रही है। यह रहस्य है कि कांग्रेस पार्टी अब नीरव मोदी को बचाने के लिए क्यों कोशिश कर रही है। यह भी पढ़ें: सलमान को बेल दी थी अब कांग्रेसी बन गए जज साहब

नीरव मोदी और विजय माल्या से पहले अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले के आरोपी क्रिश्चियन मिशेल की भी कांग्रेस ने क़ानूनी मदद की थी। जब उसे दुबई से भारत लाया गया था तब कांग्रेस ने अपने नेता को वकील बनाकर उसके पास भेजा था। पढ़िए वो पूरी ख़बर: कौन है क्रिश्चियन मिशेल? क्या है सोनिया गांधी से उसका रिश्ता

(न्यूज़लूज़ टीम)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!