Home » Loose Top » रामसेतु से आरोग्य सेतु तक… कांग्रेस एक पतन कथा!
Loose Top

रामसेतु से आरोग्य सेतु तक… कांग्रेस एक पतन कथा!

केरल के वायनाड से कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार के मोबाइल ऐप आरोग्य सेतु का विरोध किया है। राहुल गांधी की राय में इस ऐप से लोगों की प्राइवेसी को खतरा है। राहुल गांधी ने इस बारे में एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि ‘आरोग्य सेतु’ एप एक अत्याधुनिक निगरानी प्रणाली है, जिससे लोगों की निजता और डाटा सुरक्षा को लेकर गंभीर चिंताएं पैदा हो रही हैं। राहुल गांधी के इस ट्वीट से लोग हैरान हैं क्योंकि आरोग्य सेतु ऐप कोरोना वायरस से जूझ रहे देश में एक बहुत बड़ा मददगार बनकर उभरा है। इससे लोगों को एक ही जगह पर इस महामारी से जुड़ी सारी प्रमाणिक जानकारियां मिल जाती हैं। साथ ही यह ऐप यह भी बताता है कि जिस जगह पर आप हैं, वहां से कोई संक्रमित व्यक्ति कितनी दूरी पर है। जिस तरह से सोनिया गांधी ने भगवान राम के बनाए रामसेतु को तोड़ने के लिए कोर्ट में हलफनामा दिया था, उसी तरह आरोग्य सेतु पर भी राहुल गांधी का ये हमला हैरान करने वाला है। क्योंकि संकट के इस समय में इससे काफी मदद मिल रही है और करोड़ों लोगों के लिए यह लाइफ़लाइन है, क्योंकि इतनी बड़ी संख्या में लोगों तक डॉक्टरों के ज़रिए नहीं पहुँचा जा सकता।

आरोग्य सेतु से शिकायत क्या है?

दरअसल राहुल गांधी को लगता है कि इस ऐप से लोगों की प्राइवेसी में दखल पड़ जाएगी और सरकार उनकी जासूसी कर लेगी। उन्हें इस ऐप के ज़रिए डेटा चोरी का भी डर लग रहा है। जबकि सरकार सार्वजनिक बयान जारी करके पहले ही यह बता चुकी है कि इस ऐप को डाउनलोड करने में क्या-क्या अनुमतियाँ देनी होती हैं और जो भी डेटा इकट्ठा होता है वो कहां पर और कितनी देर के लिए सुरक्षित रखा जाता है। दरअसल आरोग्य ऐप किसी भी मेडिकल ऐप की ही तरह है जो आपकी गतिविधियों पर उतनी ही नज़र रखता है जितनी आपकी सेहत के लिए ज़रूरी है। साथ ही इसके ज़रिए सरकार अफ़वाहों और ग़लत जानकारियों पर भी नियंत्रण पा रही है। राहुल गांधी ने ऐप में कोई तकनीकी ख़ामी नहीं बताई है। जबकि इतना बड़ा आरोप लगाने से पहले ज़रूरी था कि वो यह बताते कि इस ऐप में ऐसी क्या कमी है जिसके कारण वो यह बात कह रहे हैं। यह स्थिति तब है जब दो दिन पहले ही राहुल गांधी ने चाइनीज़ ऐप ज़ूम (zoom app) पर आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराज राजन के साथ बातचीत की थी। ज़ूम ऐप के बारे में सरकार एडवाइजरी जारी कर चुकी है कि ये सुरक्षित नहीं है। यानी राहुल गांधी को चाइनीज ऐप से तो डर नहीं लग रहा, लेकिन अपने ही देश में आम उपयोग के एक ऐप को लेकर वो झूठ फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।

पूरी तरह सुरक्षित है आरोग्य सेतु

तकनीकी जानकारों के अनुसार आरोग्य सेतु ऐप में ऐसा कुछ नहीं है कि उससे किसी की जासूसी हो सके। इसमें जो भी डेटा इकट्ठा होता है वो 45 दिन में ही ख़ुद ही डिलीट हो जाता है। राहुल गांधी ने कहा है कि यह ऐप किसी प्राइवेट एजेंसी को आउटसोर्स की गई है। यह बात भी पूरी तरह ग़लत है। इस ऐप को बनाने और मैनेज करने की ज़िम्मेदारी सीधे सरकारी एजेंसी NIC कर रही है। वास्तव में इस ऐप में जो डेटा शेयर होता है उस हिसाब से ये पेटीएम और फेसबुक के ऐप भी अधिक सुरक्षित कहा जा रहा है। आरोग्य सेतु में कोई भी अपनी मेडिकल जांच खुद कर सकता है और समझ सकता है कि उसे कोविड19 के संक्रमण का खतरा है या नहीं। इससे उसे छोटी-छोटी बात पर डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होती। भारत इकलौता देश है जिसने मोबाइल ऐप के जरिए इस तरह से महामारी पर काबू पाने की कोशिश की है।

रामसेतु विरोध में भी घिरी है कांग्रेस

करोड़ों लोगों की आस्था का केंद्र रामसेतु को तोड़ने की बात कहकर कांग्रेस एक बड़ी गलती कर चुकी है। इसी का नतीजा है कि वो दो कार्यकाल से सत्ता से बाहर है और ज़्यादातर प्रदेशों में उसका सूपड़ा साफ़ हो चुका है। अब कोरोना वायरस की आपदा के समय कांग्रेस का ऐसा ग़ैरज़िम्मेदार रवैया बता रहा है कि यह पार्टी इतिहास से सबक़ लेने को तैयार नहीं है।

नीचे आप राहुल गांधी का ट्वीट देख सकते हैं।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!