Home » Loose Top » जब कोटा से लौटी छात्रा से सीएम योगी ने माँगा बस का किराया!
Loose Top

जब कोटा से लौटी छात्रा से सीएम योगी ने माँगा बस का किराया!

क्या होगा अगर कोई मुख्यमंत्री किसी छात्र या छात्रा से उसे घर तक पहुँचाने के बदले बस का किराया माँगे? कुछ ऐसा ही किया यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने, जिन्होंने आज राजस्थान के कोटा में रहकर इम्तिहान की तैयारी करने वाले छात्र-छात्राओं से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग पर बात की। एक छात्रा ने मुख्यमंत्री को जब परिवार तक पहुँचाने के बदले धन्यवाद कहा तो बदले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मज़ाक़ में कहा कि “आपने अभी तक बस का किराया नहीं दिया है।” इसके बाद बैठक में ज़ोर का ठहाका लग उठा और वहाँ मौजूद लोगों ने तालियाँ बजानी शुरू कर दीं। यह वीडियो आप इसी पेज पर नीचे देख सकते हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार ने कोटा में फंसे 8000 से ज्यादा छात्र-छात्राओं को उनके घरों तक पहुंचाया। इसके लिए सरकार ने रातों-रात 300 से ज्यादा बसें भेजी थीं। इन सभी छात्र-छात्राओं से कहा गया है कि वो अपने घरों में अगले कम से कम 14 दिन तक क्वारंटाइन रहें।

विरोध के बावजूद लाए गए छात्र-छात्राएं

वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि “ये बीमारी किसी का चेहरा, जाति या धर्म नहीं देखती। सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। इसलिए आप सभी सरकार के निर्देशों का पूरी सावधानी से ध्यान रखें।” योगी से छात्र-छात्राओं की यह मुलाक़ात बेहद अहम मानी जा रही है। क्योंकि इस फ़ैसले के लिए योगी सरकार को भारी आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा। क्योंकि इसी समय देश के अलग-अलग राज्यों में लाखों मज़दूर फँसे हुए हैं। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने ये कहते हुए इस फ़ैसले का विरोध शुरू कर दिया था कि योगी सरकार गरीब मज़दूरों की अनदेखी कर रही है। दूसरी तरफ़ योगी सरकार की दलील थी कि ऐसा नहीं है कि मज़दूरों की समस्या कम है, लेकिन छात्र-छात्राओं को लेकर सरकार की ज़िम्मेदारी बाक़ी सबसे अधिक है।

अब मध्य प्रदेश से वापस आएंगे मजदूर

कोटा से छात्र-छात्राओं को लाने के बाद योगी सरकार अब मज़दूरों को वापस लाने में जुटी है। सबसे पहले हरियाणा और दिल्ली से बड़ी संख्या में मज़दूरों को उत्तर प्रदेश के अलग-अलग ज़िलों में पहुँचाया गया। अब योगी सरकार मध्य प्रदेश में फंसे मजदूरों को लाएगी। मंगलवार को टीम इलेवन के साथ बैठक के दौरान सीएम योगी ने इस बाबत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। अनुमान है कि, मध्य प्रदेश में यूपी के 4 हजार मजदूर फंसे हैं। लेकिन उन्हीं को लाया जाएगा, जिन्होंने 14 दिन का क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर लिया और स्वस्थ हैं। योगी ने कहा- सभी राज्यों से संपर्क कर उनके वहां क्वारंटाइन हुए यूपी के लोगों की सूची मांग लें। जिससे उनकी वापसी कराई जा सके। सीएम योगी ने केस बढ़ने के बाद हापुड़, रामपुर, वाराणसी, मुजफ्फरनगर और अलीगढ़ में नोडल अफसर नियुक्त करने का भी निर्देश दिया है। यहां एक वरिष्ठ आईएएस अफसर, आईजी स्तर के पुलिस अफसर व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी की तैनाती की जाएगी। इससे पहले योगी सरकार ने 18 जिलों में नोडल अफसर नियुक्त किए थे।

(न्यूज़लूज़ टीम)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!