Home » Loose Top » सैनेटाइजेशन में फ़िल्मी स्टाइल शूटिंग करवा रहे हैं केजरीवाल के नेता
Loose Top

सैनेटाइजेशन में फ़िल्मी स्टाइल शूटिंग करवा रहे हैं केजरीवाल के नेता

बायीं तस्वीर में विधायक राघव चड्ढा और दायीं तस्वीर में मनीष सिसोदिया को देखा जा सकता है।

ऐसे समय में जब दिल्ली में कोरोना वायरस से हालात बेक़ाबू होते जा रहे हैं आम आदमी पार्टी के मंत्री और विधायक बाक़ायदा प्रोफ़ेशनल कैमरामैन लेकर अपना फोटोशूट करवा रहे हैं। ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, विधायक राघव चड्ढा समेत कई नेताओं को फिल्मी स्टाइल में एक्शन फोटोग्राफी कराते देखा जा सकता है। तस्वीरों की क्वालिटी से पता चल रहा है कि ये किसी प्रेस फोटोग्राफर या मोबाइल फोन की नहीं, बल्कि मॉडलिंग वगैरह में इस्तेमाल होने वाले हाई रेजोल्यूशन कैमरों से ली गई हैं। इन तस्वीरों में ये नेता सैनिटाइजेशन कर रही मशीनों के आगे चल रहे हैं मानो वो इस पूरे काम की देखरेख कर रहे हों। ऊपर मनीष सिसोदिया की जो तस्वीर है उसमें वो ऊपर किसी को नमस्कार करते दिखाई दे रहे हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया है कि दरअसल ऊपर कोई नहीं था उपमुख्यमंत्री ने सिर्फ फोटो खिंचवाने के लिए नमस्कार करने की एक्टिंग की थी। दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1500 पार कर चुकी है, इसके बावजूद अब जाकर कीटनाशकों के छिड़काव जैसे जरूरी काम शुरू किए गए हैं। यह भी पढ़ें: दिल्ली में AAP दफ्तर पर भूखे लोगों की भीड़, गेट अंदर से करवाया बंद

छिड़काव से ज़्यादा प्रचार पर जोर

दिल्ली में 13 अप्रैल से सैनिटाइजेशन का काम शुरू किया गया है। यह काम भी सिर्फ़ उन इलाक़ों में हो रहा है जिन्हें हॉटस्पॉट या रेड ज़ोन कहा जा रहा है। इसके लिए 60 मशीनें लगाई गई हैं। इन सभी मशीनों पर अरविंद केजरीवाल की मुस्कुराती तस्वीरों वाले बैनर लगाए गए हैं। सोमवार को जब यह काम शुरू किया गया तो मशीनों के आगे फ़ोटो खिंचवाने के लिए केजरीवाल के मंत्री और विधायक आगे चल रहे थे। इनके साथ मीडिया के कैमरे और कुछ प्रोफेशनल फ़ोटोग्राफ़र भी थे जो उनकी एक-एक अदा की तस्वीरें क़ैद कर रहे थे। यह स्थिति तब है जब दिल्ली सरकार ने सैनिटाइजेशन के काम में कम से कम 15 दिन की देरी कर दी है। इस दौरान दिल्ली में कई प्राइवेट एजेंसियाँ अपनी तरफ़ से छिड़काव करवा रही थीं, लेकिन दिल्ली सरकार का कहीं अता-पता नहीं था। इसके उलट पड़ोस के उत्तर प्रदेश और हरियाणा के शहरों में हॉटस्पॉट ही नहीं, उन इलाक़ों में भी सैनेटाइजेशन का काम 24 अप्रैल के बाद से ही शुरू हो गया था जहां एक भी संक्रमित व्यक्ति नहीं मिला है। यह भी पढ़ें: झंडेवालान मंदिर के भंडारे को बताया केजरीवाल का किचन, आजतक चैनल की करतूत

4 लाख लोगों को खाने का झाँसा

दिल्ली में कोरोनावायरस के हॉटस्पॉट पर दवाओं के छिड़काव का काम तो फिर भी शुरू हो गया लेकिन दिल्ली में 4 लाख लोगों को खाना खिलाने का दिल्ली सरकार का दावा अब भी एक रहस्य बना हुआ है। कुछ जगहों पर स्कूलों में खाना ज़रूर पकाया और बाँटा जा रहा है। लेकिन वहाँ आने वालों की संख्या देखकर नहीं कहा जा सकता कि पूरी दिल्ली में ऐसे कैंपों की संख्या 4 लाख होगी। माना जा रहा है कि दिल्ली सरकार रोज़ लगभग 40 से 50 हज़ार लोगों को ही खाना दे पा रही है। क्योंकि उसके पास इसका नेटवर्क ही नहीं है। इसके बजाय स्वयंसेवी संस्थाएँ ही लोगों तक खाना पहुँचा रही हैं। जिन इलाक़ों में दिल्ली सरकार की तरफ़ से खाने के पैकेट बाँटे गए वहाँ भी खाने में गंदगी और ख़राब खाने की शिकायतें आ रही हैं। दूसरी तरफ केजरीवाल अखबारों और टीवी चैनलों पर करोड़ों रुपये के विज्ञापन जारी करके दावा कर रहे हैं कि दिल्ली में कोई भी भूखा नहीं सो रहा। यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के कारण खड़ी है कार? फ़ौरन करें ये ज़रूरी काम

दिल्ली सरकार ने छिड़काव के लिए ऐसी मशीनें ख़रीदी हैं। सभी मशीनों पर प्रमुखता के साथ केजरीवाल की फ़ोटो लगाई गई है।

(न्यूज़लूज़ टीम)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!