Home » Loose Top » जब कुलभूषण की मां ने नाकाम कर दी पाक की चाल
Loose Top

जब कुलभूषण की मां ने नाकाम कर दी पाक की चाल

पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव और उनके परिवार की मुलाकात में हुई बातचीत की जानकारी धीरे-धीरे सामने आ रही है। जो सबसे अहम बात सामने आई है वो ये कि पाकिस्तान ने इस मुलाकात के बहाने कुलभूषण के खिलाफ सबूत जुटाने की तैयारी की थी। लेकिन उनकी मां अवंती जाधव की सूझबूझ के कारण उसका सारा प्लान फेल हो गया। बातचीत शुरू होने पर कुलभूषण ने अपनी मां अवंती और पत्नी चेतना जाधव से कहना शुरू किया कि “मैं तो भारत का जासूस हूं और इन लोगों ने मुझे पकड़ लिया। अब ये तो होना ही था।” यह बात सुनकर कुलभूषण की मां ने कहा कि “लेकिन तुम ऐसी बात क्यों बोल रहे हो? तुम तो बिजनेस के सिलसिले में ईरान गए थे। हमें पता है कि तुम्हें वहीं से किडनैप किया गया।” मां की ये बात सुनते ही वहां मौजूद पाकिस्तानी अधिकारी बौखला गए थे। यह भी पढ़ें: कुलभूषण को कुछ नहीं होगा, कैद में है पाक अफसर

पाकिस्तान ने रचा था पूरा जाल

दरअसल कुलभूषण जाधव के भारतीय जासूस होने का कोई सबूत अब तक पाकिस्तान नहीं दे पाया है। इंटरनेशनल कोर्ट ने भी इसी आधार पर कुलभूषण की फांसी की सज़ा पर रोक लगाई है। वहां की एजेंसियों ने तैयारी की थी कि मां और पत्नी अपनी बातचीत में कुछ न कुछ ऐसी बात जरूर बोल देंगी, जिसे वो अंतरराष्ट्रीय अदालत में पेश करके साबित कर सकेगा कि कुलभूषण वाकई में जासूस ही है। इसी खातिर पाकिस्तानी एजेंसियों ने संभवत: कुलभूषण को डरा-धमकाकर वही बोलने को कह रखा था जो उसे बताया जाए। पूरी बातचीत के दौरान पाकिस्तानी खुफिया अफसर लगातार नजर रखे हुए थे। कुलभूषण ने वही बोला जो बोलने की उसे इजाज़त थी, लेकिन मां ने जो जवाब दिया उससे पाकिस्तान का पूरा खेल नाकाम हो गया। मां ने कुलभूषण की बात को काटते हुए लगभग गुस्से में जवाब दिया कि तुम इस तरह की बात कैसे कर सकते हो। यह भी पढ़ें: अपने गुमशुदा फौजी अफसर को ढूंढ रहा है पाकिस्तान

दुष्प्रचार की कोशिश करेगा पाक

भारत यह मानकर चल रहा है कि मां-पत्नी से कुलभूषण की बातचीत की रिकॉर्डिंग को पाकिस्तान जरूर प्रोपोगेंडा के लिए इस्तेमाल करेगा। यह भी शक है कि इसके लिए रिकॉर्डिंग में काट-छांट भी की जा सकती है। हालांकि यह तय है कि जो बातचीत हुई है उसे वो इंटरनेशनल कोर्ट में पेश करके कुछ भी साबित नहीं कर सकेगा। यह जानकारी भी सामने आई है कि पाकिस्तान चाहता था कि सिर्फ पत्नी को कुलभूषण से मिलने दिया जाए क्योंकि वो बेहद भावुक थीं, जबकि मां ने कलेजा कड़ा कर रखा था और वो अधिकारियों से बातचीत में भी बहुत सूझबूझ से पेश आ रही थीं। लेकिन भारतीय अधिकारियों के दबाव के बाद पाकिस्तान को दोनों से मुलाकात कराने को मजबूर होना पड़ा। मां ने बेटे से एक बार मराठी मां बात करनी चाही, लेकिन पाकिस्तानी अफसरों ने इंटरकाम काट दिया।

मुलाकात के बाद निकली बौखलाहट

कुलभूषण से 40 मिनट की मुलाकात के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट खुलकर सामने आ गई। सारे अधिकारी इतने बौखलाए हुए थे मानो उनके हाथ से कोई बड़ा मौका चूक गया है। अवंती और चेतना जाधव जब पाकिस्तानी विदेश विभाग के दफ्तर से बाहर निकलीं तो पाकिस्तानी पत्रकारों ने उन पर चिल्लाना शुरू कर दिया। जबकि यह बात पहले से तय थी कि पत्रकारों से कोई मुलाकात नहीं होगी। पाकिस्तान को उम्मीद थी कि पत्रकारों के उकसावे वाले सवालों पर मां या पत्नी अपना आपा खो बैठेंगे और कोई ऐसी बात कह देंगे जिसे वो अपने पक्ष में इस्तेमाल कर लेगा। इस दौरान इस्लामाबाद में भारत के उप उच्चायुक्त जेपी सिंह भी साथ में मौजूद थे। वो पाकिस्तान की इस चाल को समझ गए थे और उन्होंने कार आने में देरी पर नाराजगी भी जताई।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!