Home » Loose Views » रवीश कुमार को निखिल दाधीच का मुंहतोड़ जवाब » पृष्ठ 2
Loose Views

रवीश कुमार को निखिल दाधीच का मुंहतोड़ जवाब

खैर छोड़िए, रवीश जी आप अक्सर महिलाओं के मुद्दों पर बोलते नजर आते हैं सही बोलूं बहुत अच्छा लगता है महिलाओं के मुद्दों पर आपका बोलना लेकिन फिर जब किसी बृजेश पांडेय का मामला आता है तो पता नहीं क्यों आपके चैनल पर वो समाचार दूरबीन लेकर ढूंढने पर भी नजर नहीं आता, दिल को तसल्ली देकर मेरे जैसे कई लोग इंतजार करते है कि रवीश जी अपने प्राइम टाइम में इसे जरूर दिखाएंगे पर हमें निराशा ही हाथ लगती है। ऐसा क्यों? आप मेरा फ़ोटो किसी नेता के साथ होने पर उसे ब्रेकिंग न्यूज़ बना देते हो पर बृजेश पांडेय का बिहार कांग्रेस का प्रदेश उपाध्यक्ष और एक बड़े जर्नलिस्ट का भाई होने पर भी उसकी न्यूज़ नहीं दिखाते। ऐसे में सोचना पड़ता है कि ऐसा क्यों हुआ। आप मेरे ट्वीट के जिम्मेदार देश के प्रधानमंत्री जी को बता कर उन्हें बदनाम करने के लिए एक अभियान चलाये हुए हैं। रवीश जी मेरे किसी ट्वीट का देश के प्रधानमंत्री जी से क्या लेना-देना? अगर आप ये मानते है कि अपने किसी फॉलोवर के किसी ट्वीट के लिए देश के प्रधानमंत्री जिम्मेदार है तो ये बात निश्चित रूप से हर एक शख्स पर लागू होती है। इस हिसाब मनीष तिवारी, दिग्विजय सिंह, अखिलेश प्रताप सिंह, तहसीन पूनावाला की भाषा के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी जिम्मेदार हैं। आपने सोनिया जी से इन लोगों पर कार्रवाई की कोई बात नहीं की, ना ही सोनिया जी या राहुल गांधी को निशाना बनाया।

इन्हें छोड़िए आप खुद दिग्विजय सिंह, संजय निरुपम, मनीष तिवारी को फॉलो करते हैं। इनकी भाषा के जिम्मेदार क्या आप हैं? अगर प्रधानमंत्री जी अपने किसी फॉलोवर के ट्वीट के लिए जिम्मेदार हैं तो आप स्वयं देश के करोड़ों रुपये लेकर फरार हो जाने वाले विजय माल्या और ललित मोदी को फॉलो करते हैं। आपके तर्क के हिसाब इन दोनों के कार्यों के लिए क्या आप जिम्मेदार है? अगर नहीं तो मेरे किसी ट्वीट के लिए मोदी जी जिम्मेदार कैसे? देश के प्रधानमंत्री को किस साजिश के तहत बदनाम किया जा रहा है और किसके इशारे पर? आपके शब्दों में आप एक निष्पक्ष पत्रकार है इस नाते मैं चाहूंगा कि कल जब आप प्राइम टाइम में आये तो देश को बताये की मेरे किसी ट्वीट के लिये मोदी जी जिम्मेदार हैं तो जिनको आप फॉलो करते है उनकी गाली वाली भाषा के लिए आप जिम्मेदार कैसे नहीं? कांग्रेस नेताओं की भाषा के लिए सोनिया जी और राहुल गांधी जिम्मेदार क्यों नहीं है? आप देश को बताएं की महिला सुरक्षा पर जागरूक रहने वाला उनके अधिकारों के लिए लड़ने वाला पत्रकार बृजेश पांडेय पर चुप क्यों हो जाता है? प्राइम टाइम में रवीश जी देश को ये बताये जब मेरे ट्वीट या कार्य के जिम्मेदार प्रधानमंत्री मोदी है तो विजय माल्या और ललित मोदी के कारनामों के जिम्मेदार खुद रवीश क्यों नहीं हैं? रवीश बताएं कि किसी साधारण इंसान की भाषा पर प्रधानमंत्री जी से अनफॉलो की मांग करने वाले रवीश जी ने उपरोक्त गालीबाज और घोटालेबाज लोगों को अभी तक क्यों फॉलो कर रखा है। रवीश जी आपको मेरे ट्वीट से तकलीफ है तो सवाल मुझसे किये जाने चाहिए मैं तैयार हूँ जवाब देने के लिए। बेवजह देश के प्रधानमंत्री जी को निशाना बना कर बदनाम करने के पीछे क्या एजेंडा है?

मेरी आपसे प्रार्थना है भगवान के लिए देश के प्रधानमंत्री जी को बेवजह बदनाम मत करिये। आपको मुझसे तकलीफ है तो लिखिए मेरे बारे में खूब लिखिए रोज लिखिए गलत सही जो मन में आए लिखिए। मैं कोई आपत्ति नहीं करूंगा। न सवाल करूँगा क्योंकि ये आपकी अभिव्यक्ति की आजादी है। मैं इसका हनन नहीं करूंगा। रवीश जी मेरा आपसे सवाल है कि क्या मोदी जी का मुझ जैसे अदने इंसान को फॉलो या अनफॉलो करना इस देश की जनता के लिए बहुत बड़ा महत्व रखता है या इस देश की राष्ट्रीय समस्या में से एक है? क्या मोदी जी के किसी को अनफॉलो करने से इस देश की जीडीपी में वृद्धि हो जाएगी या कमी हो जाएगी? क्या इससे किसी गरीब की थाली में रोटी आ जाएगी? शायद नहीं, फिर भी इतने बड़े पत्रकार होने पर भी आपका मेरे जैसे साधारण इंसान के लिए इतना समय बर्बाद करना समझ से परे है। आप कई बार बातें बड़ी अच्छी करते हैं देश की समस्याओं पर नए भारत के निर्माण पर दिल को छू जाती हैं लेकिन सिर्फ बातों से क्या होता है कुछ धरातल पर भी होना चाहिए। इंसान को शुरुआत स्वयं से करनी चाहिए फिर दूसरों से अपेक्षा करनी चाहिए। अजीब नहीं लगता आपको ये नाटक? आपने मेरे प्रधानमंत्री जी द्वारा फॉलो को राष्ट्रीय मुद्दा बना रखा है। रवीश जी मुझे प्रधानमंत्री जी अनफॉलो कर भी दें तो इससे किसी गरीब का कोई भला नहीं होगा। असल में आप लोग जिस तरह से इस मुद्दे पर देश के प्रधानमंत्री जी को बदनाम कर रहे है मैं स्वयं प्रधानमंत्री जी आग्रह करना चाहूंगा कि वो मुझे अनफॉलो कर दें। कम से कम आप लोग देश के प्रधानमंत्री को निशाना बनाना तो बंद करोगे। समझ नहीं आता कैसी मानसिकता के लोग है या किसके इशारे पर काम कर रहे है जो मेरे ट्वीट के लिए बेवजह मोदी जी को जिम्मेदार मानते है। महोदय मेरा फॉलो अनफॉलो इस देश की राष्ट्रीय समस्याएं नहीं हैं इस देश की राष्ट्रीय समस्याएं वो है जो कई बार आप भी दिखाते है, महिला सुरक्षा, गरीबी, अशिक्षा आदि। आप अक्सर गरीब और महिलाओं के विषय में बात करते हैं। आज मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि आइये साथ मिलकर पहल करते है नवभारत निर्माण की। प्रधानमंत्री जी स्वच्छ भारत अभियान चला रहे है, स्टूडियो या घर में बैठकर उनका मख़ौल उड़ाने की बजाय हम भी इसका हिस्सा बनें। जगह समय तारीख आप तय कर लीजिए। हम सब मिल कर स्वच्छता के लिए धरातल पर काम करते है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान से जुड़ते हैं कमियां निकालने वाले हजार मिलेंगे पर किसी के अच्छे काम में सहयोगी बनकर उसे अंजाम तक पहुंचाने वाले कम। आइये हम इसे अंजाम तक पहुंचाने वाले बने। एक बालिका की शिक्षा की जिम्मेदारी आप लीजिये एक बहन की जिम्मेदारी मैं लेता हूँ। यकीन मानिए मेरे कई अन्य साथी भी इसके लिए तैयार हैं और आपके साथी भी निश्चित ही होंगे। आइये साथ मिलकर काम करें। सभी पूर्वाग्रहों को भूल कर, बिना किसी एजेंडे के आइये साथ मिलकर काम करें। आपके जवाब का इंतजार रहेगा।

आपका शुभेच्छु
निखिल दाधीच

(निखिल दाधीच की वेबसाइट से साभार)

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!