Home » Loose Top » हिंदू ही नहीं, शिया भी हैं आतंकियों के निशाने पर!
Loose Top

हिंदू ही नहीं, शिया भी हैं आतंकियों के निशाने पर!

देश में हिंदू यूं तो हमेशा से इस्लामी आतंकवाद के निशाने पर रहे हैं, लेकिन आपको ये जान कर हैरानी होगी कि शिया मुसलमानों पर भी आतंकी हमलों का खतरा मंडरा रहा है। हाल ही में लखनऊ में मारे गए आतंकी सैफुल्ला के साथियों से पूछताछ में यह बात सामने आई है। एनआईए की जांच में यह पता चला है कि अगले कुछ दिनों में ही यूपी में बड़े धमाके होने वाले थे। जिन जगहों को निशाना बनाया जाना था उनमें शिया मुसलमानों के धर्मस्थलों, एक सूफी दरगाह शामिल है। इसके अलावा शिया धर्म के एक नामी विद्वान की भी हत्या की प्लानिंग थी। इस साल फरवरी में आतंकवादियों ने इन सभी जगहों की रेकी भी की थी। इसके अलावा उनके पास शिया धार्मिक विद्वान की दिनचर्या से जुड़ी सारी जानकारियां मिली हैं। दरअसल आईएसआईएस सुन्नी-वहाबी मुसलमानों का संगठन है और इसके निशाने पर हमेशा से शिया, अहमदी, सूफी मुसलमान रहे हैं। ये आतंकवादी संगठन दुनिया भर के कई देशों में इस तरह से हमले करता रहा है, लेकिन अब शिया और दूसरी जाति के मुसलमानों पर भी वहाबी आतंक के खतरे की बात सामने आई है।

कैसे खुली आतंकी साजिश की पोल?

दरअसल मध्य प्रदेश के उज्जैन में 7 मार्च को हुए ट्रेन ब्लास्ट के बाद 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इनमें से एक आतंकी सैयद मीर हुसैन ने एनआईए की पूछताछ में कबूला है कि उनके निशाने पर शिया और सूफी मुसलमान थे। जिन जगहों पर हमले होने वाले थे उनमें लखनऊ का बड़ा इमामबाड़ा और लखनऊ के ही करीब बाराबंकी जिले में वारिस अली शाह की दरगाह शामिल थे। आतंकवादियों ने इन दोनों जगहों पर पूरा दिन बिताया था और वहां सुरक्षा के इंतजाम का जायजा लिया था। इन दोनों जगहों पर होने वाली भारी भीड़ के चलते आतंकियों ने यहां हमले की साजिश रची थी। इसके अलावा एक बड़े शिया धर्म गुरु के क़त्ल की भी साजिश रची जा चुकी थी। आतंकियों ने कई बार उनके घर के चक्कर लगाए थे। उनके आने-जाने और उनसे मुलाकात करने वालों का पूरा हिसाब आतंकवादियों के पास मिला है। साथ ही मकान की कई तस्वीरें और घर की दो बोलेरो और स्कोडा गाड़ियों की तस्वीरें भी आतंकवादियों के पास मिलीं। हालांकि कुछ अखबारों के मुताबिक इनका नाम मौलाना सलमान हुसैनी नदवी बताया है, लेकिन न्यूज़लूज़ की जानकारी के मुताबिक यह दावा गलत है। मौलाना नदवी शिया नहीं हैं। नदवी वो मौलाना हैं, जिन्होंने अबू बकर बगदादी को चिट्ठी लिखकर खलीफा बनने की बधाई दी थी। जिस शिया विद्वान की हत्या की साजिश थी, उनका नाम न्यूज़लूज़ को पता है लेकिन हम उनकी सुरक्षा के मद्देनजर ये जानकारी सार्वजनिक नहीं कर रहे।

देवा शरीफ में बड़ी तबाही की तैयारी!

बाराबंकी की देवा शरीफ दरगाह में तबाही का जो प्लान आतंकवादियों ने तैयार किया था उसे देखकर तो सुरक्षा एजेंसियों के भी होश फाख्ता हो गए। उन्होंने दरगाह के अंदर एक छोटे कमरे की पहचान की थी, जहां सबसे ज्यादा भीड़ होती है और वहां बम रखना बेहद आसान होता। अगर वहां बम फटता तो धमाके से ज्यादा लोग भगदड़ से मारे जाते। इसके अलावा मजार के प्रवेश और निकासी के दरवाजों, जूते-चप्पल उतारने की जगह और कव्वाली वाली जगहों पर भी बम रखने की तैयारी थी। आतंकियों ने इस सबका वीडियो भी बनाया था। किसी जुमेरात (गुरुवार) के दिन धमाके की तैयारी थी, क्योंकि उस दिन दरगाह में सबसे ज्यादा भीड़ होती है।

सऊदी अरब में बसने का था प्लान

ट्रेन में ब्लास्ट के फौरन बाद मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले के पिपरिया से तीन आतंकी गिरफ्तार किए गए थे। इनके नाम हैं- सैयद मीर हुसैन, मोहम्मद दानिश और आतिफ मुजफ्फर। इनका ही चौथा साथी था कानपुर का रहने वाला सैफुल्ला। जो लखनऊ में मुठभेड़ में मारा गया। गिरफ्तार आतंकवादियों ने बताया कि वो सभी लखनऊ में कई जगह गए ताकि टारगेट्स की पहचान की जा सके। उनका कहना था कि वो चाहते हैं कि देश में शरिया कानून लागू हो और इस्लाम को बचाने के लिए जिहाद हो। इसके लिए वो शिया, सूफी और हिंदुओं को मौत के घाट उतारना चाहते थे। इसके बाद ये सभी भारत से भागकर सऊदी अरब में बसना चाहते थे। यह पता लगाया जा रहा है कि क्या इसके लिए उनसे किसी ने वादा किया था या आतंकियों ने खुद ही ये सारी प्लानिंग बनाई थी।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!