Home » Loose Top » ईसाई बनने से मना किया तो गर्लफ्रेंड ने तेजाब फेंका!
Loose Top

ईसाई बनने से मना किया तो गर्लफ्रेंड ने तेजाब फेंका!

बैंगलोर में एक ईसाई लड़की ने शादी के लिए अपने हिंदू बॉयफ्रेंड के आगे पहले धर्म बदलने की शर्त रखी। लड़के ने ऐसा करने से मना कर दिया तो लड़की ने वो किया जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। लीडिया नाम की इस लड़की ने ईसाई बनने से इनकार करने वाले लड़के के चेहरे पर धोखे से तेजाब फेंक दिया और उसके शरीर पर ब्लेड से कई वार भी किए। पुलिस ने आरोपी लड़की को गिरफ्तार कर लिया है। 26 की लीडिया एक प्राइवेट अस्पताल में नर्स का काम करती है। पुलिस को इस मामले में लड़की के चचेरे भाई की भी तलाश है। बताया जा रहा है कि अपराध में उसने भी मदद की थी।

एक अलग तरह का लव जिहाद!

अब तक मुसलमानों के लव जिहाद के मामले तो आते रहे हैं, लेकिन ईसाई लव जिहाद का ये अपनी तरह का पहला मामला है। पीड़ित लड़का 32 साल का है और उसका नाम जयकुमार है। वो बैंगलोर में ही अली असगर रोड पर कपड़ों की दुकान चलाता है। हमले में उसकी गर्दन और चेहरे के एक हिस्से पर तेजाब पड़ा, जबकि चेहरे पर ही कई जगह ब्लेड से कटने के निशान देखे जा सकते हैं। जयकुमार और लीडिया के बीच पिछले पांच साल से रिश्ते थे। लीडिया काफी समय से उस पर दबाव बना रही थी कि वो ईसाई बन जाए। सोमवार को जयकुमार अपने एक दोस्त के साथ पास के राजाराजेश्वरी मंदिर में पूजा के लिए गया था। लीडिया को जब यह बात पता चली तो वो आगबबूला हो गई और उसने अपने बॉयफ्रेंड को मंदिर जाने की सजा देने का फैसला कर लिया।

धोखे से चेहरे पर तेजाब फेंका

बताया जा रहा है कि जयकुमार अपनी कार में बैठा ही था कि उस पर एसिड फेंका गया। एसिड फेंकने वाला कोई और नहीं बल्कि लीडिया थी, जो अपने चचेरे भाई के साथ बाइक पर वहां आई थी। दोनों ने उससे कुछ बातचीत की, तब तक लीडिया ने हाथ से बोतल निकालकर उसे जयकुमार पर उड़ेलना शुरू कर दिया। इसके बाद जयकुमार अपनी कार से बाहर आकर भागने लगा, लेकिन लीडिया ब्लेड लेकर तैयार थी और उसने उसके शरीर पर एक के बाद एक कई वार किए। मंदिर में साथ गए दोस्त ने आसपास के लोगों की मदद से जयकुमार को अस्पताल पहुंचाया।

आरोपी लीडिया ने पुलिस पूछताछ में कबूला है कि उसने ईसाई धर्म कबूल न करने का बदला लिया है। फिलहाल पुलिस ने हत्या की कोशिश जैसी धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। जांच की जा रही है कि हमले की साज़िश में लीडिया के चचेरे भाई के अलावा क्या कोई भी शामिल था।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!