Home » Loose Top » बरखा दत्त ने पंपोर के आतंकियों को रास्ता दिखाया?
Loose Top

बरखा दत्त ने पंपोर के आतंकियों को रास्ता दिखाया?

श्रीनगर के पास पंपोर में मारे गए आतंकवादियों को क्या एनडीटीवी की पत्रकार बरखा दत्त ने रास्ता दिखाया था? यह सवाल बड़ा होता जा रहा है। कुछ ऐसी जानकारियां सामने आई हैं, जिनके आधार पर कुछ लोग यह आरोप लगा रहे हैं। दरअसल उरी हमले के बाद बरखा दत्त ने एलओसी पर जाकर कुछ बेहद संवेदनशील जगहों से रिपोर्टिंग की। इनमें झेलम नदी भी थी, जो भारत से बहकर पाकिस्तान के इलाके में जाती है। बरखा ने अपनी रिपोर्ट में इस इलाके के बारे में हर वो बात बताई थी जो किसी आतंकवादी के लिए जानना जरूरी है। अब पता चल रहा है कि पंपोर में एक सरकारी बिल्डिंग में घुसे आतंकी इसी रास्ते से कश्मीर में दाखिल हुए थे। 60 घंटे तक चली यह मुठभेड़ बुधवार देर शाम को खत्म हुई और सेना ने दो आतंकवादियों को मार गिराया। इस एनकाउंटर में सरकारी संस्थान ईडीआई (EDI) की बिल्डिंग लगभग पूरी तरह तहस-नहस हो गई।

झेलम में बोट से आए थे आतंकवादी!

बरखा दत्त ने अपनी रिपोर्ट में झेलम नदी पर भारतीय सेना की पैट्रोलिंग की तस्वीरें दिखाई थीं। साथ में यह भी बताया था कि सैनिकों की शिफ्ट कब चेंज होती है। जिस रात एनडीटीवी पर यह रिपोर्ट चली थी, इस बात को देखकर कई दर्शकों ने ट्विटर के जरिए ऐतराज भी जताया था।

बरखा दत्त ने एलओसी पर कांटे की बाड़ से लगे इलाकों और झेलम के इलाकों का वीडियो घूम-घूमकर दिखाया था। हैरत की बात यह है कि चैनल पर दिखाए जाने के बाद जब यह रिपोर्ट एनडीटीवी की वेबसाइट पर अपलोड की गई तो उसमें से जवानों की शिफ्ट चेंज होने के बारे में हुई बातचीत हटा दी गई थी। यह बात भी शक पैदा करती है कि आखिर वेब एडिशन में कुछ बातें काटी क्यों गईं?

सेना में कौन कर रहा है बरखा दत्त की मदद?

आम तौर पर बॉर्डर के संवेदनशील इलाकों का पूरा नियंत्रण सेना और अर्धसैनिक बलों के हाथ में होता है। मीडिया को कहां तक जाने की इजाज़त होगी और कहां तक नहीं, यह भी सुरक्षाबलों का फैसला होता है। बरखा दत्त ने झेलम नदी और आसपास के जिन इलाकों को अपनी रिपोर्ट में दिखाया वहां तक किसी और चैनल को इजाज़त नहीं मिली, तो आखिर ऐसा क्या था कि बरखा दत्त वहां तक पहुंच गईं। क्या कारण था कि वो जवानों से उनके शिफ्ट के घंटे और कब वो शिफ्ट बदलते हैं यह भी जानना चाहती थीं? ट्विटर पर गौरव प्रधान (@DrGPradhan) नाम के व्यक्ति ने भी रिपोर्ट चलने के वक्त ही यह दावा किया था कि बरखा दत्त अपने मोबाइल फोन के जीपीएस के जरिए पाकिस्तानी एजेंसियों तक लोकेशन और रास्ते की डिटेल पहुंचा रही हैं। उन्होंने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर और सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू को भी इस बारे में टैग किया था।

सवाल पूछने पर महिला वकील को धमकी!

फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन के नाम पर भारत के टुकड़े करने वालों की नारेबाजी को जायज ठहरा चुकीं बरखा दत्त से वकील अमृता भिंडर (@amritabhinder) ने जब ट्विटर पर इस मामले के बारे में सवाल पूछा तो वो भड़क गईं। बरखा दत्त ने जवाब में उन्हें मुकदमेबाजी में फंसाने की धमकी तक दे डाली। देखिए बरखा और वकील अमृता भिंडल की ट्विटर पर हुई बातचीत।

करगिल में भी बरखा की भूमिका सवालों में

इससे पहले करगिल युद्ध के दौरान भी बरखा दत्त की रिपोर्टिंग पर सवाल उठ चुके हैं। आरोप हैं कि उस वक्त उनकी वजह से कई भारतीय जवानों की लोकेशन पाकिस्तान को मिल गई थी और उसने निशाना लगा-लगाकर भारतीय जवानों को मारा था। पत्रकार जीतेंद्र तिवारी और वकील जय भट्टाचार्जी इस मामले को मीडिया के जरिए उठा चुके हैं।

इस बारे में रिपोर्ट पढ़ें: करगिल में बरखा दत्त के कारण मारे गए थे जवान!

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

अपनी लिखी पोस्ट या जानकारी साझा करें 

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!