Home » Loose Top » ‘द हिंदू’ ने माना, RSS, BJP को लेकर झूठी खबर छापी
Loose Top

‘द हिंदू’ ने माना, RSS, BJP को लेकर झूठी खबर छापी

अखबार ‘द हिंदू’ ने करीब छह महीने के बाद माना है कि उसने आरएसएस के बारे में झूठी खबर छापी थी। दरअसल पिछले साल 10 नवंबर को अखबार ने एक खबर छापी थी कि बीजेपी और आरएसएस महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पुण्यतिथि मनाएंगे। आज अखबार के 9वें पन्ने पर एक छोटी सी सफाई छापी गई है, जिसमें यह तो माना गया है कि खबर झूठी थी, लेकिन इसके लिए कोई माफी या खेद नहीं जताया गया है।


सफाई के नाम पर खानापूरी

अखबार ने भले ही माना कि उसकी खबर गलत थी, लेकिन ऐसा दिखाने की कोशिश की है कि गलती उसकी नहीं थी। सफाई में लिखा गया है कि अनजाने में खबर को देखकर ऐसा लग रहा है कि बीजेपी और आरएसएस गोडसे की पुण्यतिथि मनाने की तैयारी कर रहे हैं। सवाल यह है कि अखबार के संपादकों को अपनी गलती समझ में आने में छह महीने क्यों लग गए?

 

झूठी रिपोर्ट पर हुई थी फजीहत

‘द हिंदू’ अखबार पर आरएसएस और बीजेपी को लेकर प्रोपेगेंडा करने के आरोप लगते रहे हैं। जब अखबार ने यह रिपोर्ट छापी तो लोग फौरन समझ गए कि एक बार फिर झूठ फैलाने की कोशिश हो रही है। सोशल मीडिया पर इसे लेकर अखबार की संपादक मालिनी पार्थसारथी की खूब फजीहत भी हुई थी।

बड़ा सा झूठ, छोटी सी सफाई

अखबार ने भले ही बड़ा सा झूठ छापा था, लेकिन सफाई छोटी सी छापी है। वो भी ऐसी कि गलती से किसी की नज़र न पड़ जाए। सवाल है कि जिस रिपोर्ट को लेकर देशभर में इतना हंगामा मचा था, उस खबर के झूठी होने की बात मानने में अखबार को इतनी शर्म क्यों महसूस हो रही है।

IMG_20160611_194038

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

अपनी लिखी पोस्ट या जानकारी साझा करें 

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!