Home » Loose Top » ड्रग्स के नशे में आतंकियों ने किया पेरिस में क़त्लेआम
Loose Top Loose World

ड्रग्स के नशे में आतंकियों ने किया पेरिस में क़त्लेआम

पेरिस में कत्लेआम मचाने वाले आतंकवादियों ने नशा कर रखा था। जिस होटल में ये आतंकवादी ठहरे थे, वहां उनके कमरों में खाने-पीने की चीजों के खाली पैकेट्स के साथ सीरींज, सुइयां और प्लास्टिक के ट्यूब्स मिले हैं। पेरिस के बाहरी इलाके में एलफोर्टविले होटल के ये कमरे हमले से 2 दिन पहले बुक कराए गए थे।

होटल के कमरों से मिले अहम सुराग

पेरिस में आतंकवादियों के होटल के कमरे से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। सिक्योरिटी एजेंसियां जब इन कमरों में पहुंचीं तो वहां बहुत गंदगी मिली। ऐसा लग रहा था कि हमले से पहले यहीं पर आखिरी तैयारी की गई होगी। आतंकवादियों ने इन्हीं कमरों में अपने शरीर पर विस्फोटक बांधे होंगे। रवाना होने से पहले आतंकवादियों ने पिज़ा ऑर्डर करके मंगाया था। खाने-पीने के बाद उन्होंने अपने शरीर में विस्फोटक बांधे। इसके बाद उन्होंने अपने शरीर में सीरींज की मदद से ड्रग्स इंजेक्ट किया होगा। ताकि वो आराम से खूनी खेल खेल सकें।

चश्मदीदों ने भी जताया है नशे का शक

बाताक्लां कॉन्सर्ट हॉल में हमले के वक्त बाल-बाल बचे एक चश्मदीद ने पुलिस को बताया है कि ऐसा लग रहा था कि हमलावरों के सिर पर खून सवार था। वो ऐसे उछल-उछलकर चल रहे थे मानो उड़ रहे हों। लोगों की गर्दनें काटने में किसी हमलावर के चेहरे पर शिकन तक नहीं दिख रही थी। कॉन्सर्ट हॉल में ही सबसे ज्यादा 89 लोगों की हत्या की गई।

हेरोइन और कोकीन का इस्तेमाल

दुनिया भर में आत्मघाती हमले करने वाले ज्यादातर आतंकवादी नशेड़ी होते हैं। ऐसे हमलों के लिए आम तौर पर ड्रग एडिक्ट्स का ही इस्तेमाल किया जाता है। आम तौर पर ये आतंकवादी हेरोइन या कोकीन का इस्तेमाल करते हैं। इन दोनों ड्रग्स का असर यह होता है कि शरीर बहुत ज्यादा एक्टिव हो जाता है और दर्द या भावनाएं खत्म हो जाती हैं।

आतंकवादियों के होटल के कमरे का वीडियो

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!