Home » Loose Top » जिस होटल से डर गए ओबामा वहां मोदी ठहरेंगे!
Loose Top Loose World

जिस होटल से डर गए ओबामा वहां मोदी ठहरेंगे!

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस होटल में रहेंगे, जिसमें ठहरने से बराक ओबामा को डर लगता है। ये होटल है न्यूयॉर्क का वॉलडॉर्फ एस्टोरिया। अब तक अमेरिकी राष्ट्रपति हमेशा यहीं ठहरते आए हैं, लेकिन इस बार उनकी हिम्मत जवाब दे गई।


होटल वॉलडॉर्फ एस्टोरिया से डर क्यों?

पिछले साल चीन की एक कंपनी ने इस होटल को खरीद लिया है। जिसे देखते हुए अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियां डरी हुई थीं। उन्हें लग रहा था कि चीन के हैकर अमेरिकी राष्ट्रपति और दूसरे अधिकारियों का डेटा हैक कर सकते हैं। शायद इसी बात को देखते हुए पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति होटल वॉलडॉर्फ एस्टोरिया की बजाय न्यूयॉर्क पैलेस होटल में ठहर रहे हैं। इस होटल में पहले भारत से जाने वाले प्रधानमंत्री रुका करते थे। वैसे ये सवाल भी उठ रहा है कि जिस होटल में सिक्योरिटी कारणों से अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं रुक रहे, वहां प्रधानमंत्री मोदी क्यों ठहर रहे हैं?

एक ही होटल में रहेंगे मोदी और शरीफ

वैसे भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री एक ही होटल में रहेंगे। इससे इस बात की अटकलें बढ़ गई हैं कि चलते-चलते ही सही दोनों नेताओं की एक मुलाकात जरूर होगी। पीएम नरेंद्र मोदी कल शाम को न्यूयॉर्क पहुंचेंगे और वॉलडॉर्फ एस्टोरिया होटल में ठहरेंगे। जबकि नवाज शरीफ 25 सितंबर की शाम को पहुंचेंगे। वॉलडॉर्फ एस्टोरिया होटल न्यूयॉर्क ही नहीं, अमेरिका के सबसे महंगे होटलों में से एक माना जाता है।

सिलिकॉन वैली में मोदी का बड़ा प्रोग्राम

पीएम मोदी 26 और 27 सितंबर को कैलीफोर्निया में होंगे। वहां से वो 28 सितंबर को वापस न्यूयॉर्क पहुंचेंगे। जहां उनकी अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात होनी तय है। इसी दिन यूएन के ही पीसकीपिंग समिट में पीएम मोदी और नवाज शरीफ एक साथ शामिल होंगे। ज्यादा उम्मीद है कि दोनों की मुलाकात इसी दौरान होगी। यूएन के लिए अपनी सेनाएं देने वाला भारत दुनिया का सबसे बड़ा देश है। अब तक 1 लाख 80 हजार से ज्यादा भारतीय फौजी सिक्योरिटी काउंसिल के 44 मिलिट्री ऑपरेशंस में हिस्सा ले चुके हैं।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!