Home » Loose Top » सऊदी अरब का ‘बलात्कारी’ भारत से भाग गया
Loose Top Loose World

सऊदी अरब का ‘बलात्कारी’ भारत से भाग गया

दिल्ली में सऊदी अरब के दूतावास के बाहर महिला संगठनों ने विरोध-प्रदर्शन भी किए थे।

जिस बात का शक था वो बात सही साबित हुई है। दो नेपाली लड़कियों से बलात्कार का आरोपी सऊदी डिप्लोमैट भारत से भाग चुका है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है कि सऊदी दूतावास का फर्स्ट सेक्रेटरी माजिद हसन अशूर भारत छोड़कर जा चुका है।

भारत के हाथ बंधे हुए हैं

वियना समझौते के तहत भारत कुछ भी नहीं कर सकता। यहां तक कि उसके खिलाफ देश में एफआईआर भी नहीं लिखी जा सकती। हर देश में दूसरे देशों के राजनयिकों को एक खास तरह की सुविधा मिलती है, जिसके तहत कोई देश दूसरे देश के राजनयिक को न तो गिरफ्तार कर सकता है और न ही उसके खिलाफ कोई आपराधिक मुकदमा चला सकता है। यहां तक कि उसे एयरपोर्ट पर भी रोका नहीं जा सकता।

क्या है ये पूरा मामला

इसी महीने के शुरू में ये मामला सामने आया था। गुडगांव में सऊदी दूतावास की तरफ से किराये के फ्लैट में रह रहे एक राजनयिक ने अपने घर में दो नेपाली लड़कियों को बंधक बना रखा था। खबर मिलने के बाद गुड़गांव पुलिस ने फ्लैट पर छापा मारकर दोनों लड़कियों को छुड़ाया। लेकिन पुलिस आरोपी को अरेस्ट नहीं कर सकी, क्योंकि वो डिप्लोमेट था और उसे गिरफ्तार किया ही नहीं जा सकता।

सऊदी अरब सरकार ने बचाया

बलात्कार जैसे गंभीर आरोप के बावजूद सऊदी सरकार ने उसे खुलेआम बचाया। भारत सरकार ने ये दलील दी थी कि अपराध की गंभीरता को देखते हुए कम से कम पूछताछ की इजाज़त मिलनी चाहिए। सऊदी सरकार इसके लिए भी तैयार नहीं हुई। वैसे सऊदी सरकार का कहना है कि उनका राजनयिक भागा नहीं है, बल्कि उन्होंने उसे वापस बुलाया है।

अजीत डोभाल देख रहे थे मामला

सऊदी सरकार से रिश्तों की गंभीरता को देखते हुए मामले को खुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल देख रहे थे। सूत्रों के मुताबिक सरकार यह तर्क दे ही थी कि चूंकी अपराध की शिकार बनी दोनों लड़कियां विदेशी हैं, इसलिए वियना संधि की शर्तों में ढील की गुंजाइश हो सकती है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!