Home » Loose Top » अगले महीने बॉक्सिंग रिंग में विजेंदर की बड़ी टक्कर
Loose Top Loose World

अगले महीने बॉक्सिंग रिंग में विजेंदर की बड़ी टक्कर

भारत के स्टार बॉक्सर विजेंदर सिंह अगले महीने की 10 तारीख से प्रोफेशनल बॉक्सिंग के रिंग में दमखम आजमाएंगे। 29 साल के विजेंदर ने जुलाई में ब्रिटेन के क्वींसबेरी प्रमोशंस के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया था। इसके तहत अब वो भारत के लिए नहीं खेल सकेंगे। विजेंदर का पहला मुकाबला किससे होगा, अभी इसका फैसला होना बाकी है। विजेंदर भारत के पहले बॉक्सर होंगे, जो इस तरह से प्रोफेशनल बॉक्सिंग में उतरे हैं।

कानूनी पचड़े से हुई देरी

वैसे तो विजेंदर का पहला मुकाबला सितंबर में ही तय था, लेकिन हरियाणा पुलिस की नौकरी को लेकर चल रहे एक मुकदमे की वजह से देरी हुई। अभी एक दिन पहले ही हरियाणा सरकार ने हाई कोर्ट में कहा है कि विजेंदर के विदेशी क्लब के लिए खेलने पर उन्हें ऐतराज नहीं है। इसके लिए पुलिस की नौकरी से उनकी छुट्टी मंजूर कर ली गई है। ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद उन्हें हरियाणा पुलिस में डीएसपी की नौकरी दी गई थी। पुलिस का कहना था कि चूंकि वो देश के लिए खेलने नहीं जा रहे हैं, इसलिए उनकी छुट्टी मंजूर नहीं की जा सकती है।

मुकाबले को लेकर है जबरदस्त उत्साह

विजेंदर सिंह का पहला मुकाबला मिडिल वेट कैटेगरी में चार राउंड का होगा। ये वर्ल्ड बॉक्सिंग का सबसे पॉपुलर भार वर्ग है। विजेंदर के क्लब को भी इस बात का एहसास है कि भारत में उनकी स्टारडम का फायदा क्लब मिलेगा। विजेंदर की वजह से इस मुकाबले का लाइव टेलीकास्ट करने वाले चैनल को भी जबर्दस्त मुनाफा होगा।

बॉक्सिंग रिंग से स्टारडम तक का सफर

विजेंदर दस का दम, नच बलिए जैसे कई रिएलिटी शोज में आ चुके हैं। 2014 में उन्होंने फगली नाम की एक फिल्म में एक्टिंग भी की थी। लेकिन वो बुरी तरह फ्लॉप रही। विजेंदर पर ड्रग्स लेने के आरोप भी लग चुके हैं।

अक्षय कुमार के प्रोडक्शन की फिल्म 'फगली' 2014 में बहुत जोरशोर से आई थी। लेकिन फिल्म बुरी तरह फ्लॉप रही और विजेंदर का फिल्मी करियर भी उसी के साथ नॉकआउट हो गया।
अक्षय कुमार के प्रोडक्शन की फिल्म ‘फगली’ 2014 में बहुत जोरशोर से आई थी। लेकिन फिल्म बुरी तरह फ्लॉप रही और विजेंदर का फिल्मी करियर भी उसी के साथ नॉकआउट हो गया।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...
Don`t copy text!