Supreme Court

लव जिहाद के ‘बगदादी एंगल’ का ऐसे हुआ भंडाफोड़

जिस लव जिहाद को मीडिया अब तक झूठ बताती रही है उसकी सच्चाई सामने आ रही है। पहली बार सुप्रीम कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच नेशनल इन्वेस्टिगेटिंग एजेंसी यानी एआईए को सौंप दी है। केरल…


सुप्रीम कोर्ट में हुई बीएचयू के कॉमरेडों की फजीहत

यूपी चुनाव से ठीक पहले नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने के लिए सक्रिय हुए बीएचयू के वामपंथी छात्रों को सुप्रीम कोर्ट में शर्मिंदगी उठानी पड़ी है। कैंपस में हंगामा और गुंडागर्दी के आरोप में वामपंथी संगठनों से जुड़े…


जल्लीकट्टू के बाद क्या बकरीद भी बंद होगी?

पिछले साल ढाका की सड़कों पर बकरीद के मौके पर खून की नदी बहते सभी ने देखा। भारत में ऐसी नदी नहीं बही, क्योंकि हमारे यहाँ बारिश नहीं हुई और होती भी तो हमारा सीवेज सिस्टम बांग्लादेश से तो अच्छा…


जज कम हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट की छुट्टियां बढ़ गईं!

एक तरफ देश में जजों की कमी का रोना रोया जा रहा है, दूसरी तरफ अदालतों की छुट्टियां बढ़ती जा रही हैं। देश की सबसे ऊंची अदालत सुप्रीम कोर्ट में इस साल पिछले साल के मुकाबले ज्यादा छुट्टियां रहेंगी। पूरे…


मी लार्ड, बैंकों ही नहीं कोर्ट के बाहर भी कतार है!

सुप्रीम कोर्ट ने आज बैंकों के एटीएम के बाहर लग रही कतारों पर चिंता जताई और कहा कि इसे देश में सड़कों पर दंगे हो सकते हैं। हैरत की बात है कि सुप्रीम कोर्ट की यह टिप्पणी उस वक्त आई…


मी लॉर्ड… कब तक जज के बेटे जज बनते रहेंगे?

जिस तरह से नेता का बेटा नेता बनता है, क्या उसी तरह हमारे देश में जज का बेटा जज बनता है? यह सवाल पिछले कुछ समय से लगातार उठ रहा है। न्यायपालिका में भाई-भतीजावाद और कुछ जगहों पर भ्रष्टाचार के…


किसी भी सुधार के लिए तैयार नहीं हैं अदालतें?

सुप्रीम कोर्ट की कोलेजियम ने न्यायपालिका में सुधार के केंद्र सरकार के सारे सुझावों को नामंजूर कर दिया है। केंद्र ने सुझाव दिया था कि जजों की नियुक्ति में मेरिट यानी योग्यता को थोड़ा और अहमियत दी जानी चाहिए। लेकिन…


इंसाफ के लिए इंतज़ार करो, मी लॉर्ड छुट्टी पर हैं!

देश में गर्मी की छुट्टियां चल रही हैं, लेकिन सरकारें काम कर रही हैं। दफ्तरों में अफसर से लेकर चपरासी तक सुबह से शाम तक काम कर रहे हैं। भयानक गर्मी के बावजूद पुलिस सड़कों पर और फौजी बॉर्डर पर…


सुप्रीम कोर्ट की छुट्टियां देख आपको भी रोना आएगा!

अदालतों में काम के बोझ का जिक्र करते-करते देश के चीफ जस्टिस रो पड़े। ये देखकर हर किसी के मन में सवाल आता है कि क्या वाकई स्थिति इतनी खराब है। मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर का यह कहना बिल्कुल सही…


सुप्रीम कोर्ट ने आम जनता से सुझाव मांगे हैं!

इतिहास में शायद पहली बार सुप्रीम कोर्ट ने आम जनता से राय मांगी है। लोगों से सुझाव मांगे गए हैं कि क्या किया जाए ताकि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों की नियुक्ति के सिस्टम को बेहतर बनाया जा…