Paid Media

जानिए यूपी में आरक्षण पर मीडिया ने कैसे झूठ फैलाया

अगर आप ये सोचते हैं कि चैनल आजकल योगी आदित्यनाथ को दिन भर इसलिए दिखाते हैं क्योंकि वो उनके काम को पसंद कर रहे हैं तो ये आपकी गलतफहमी है। योगी हों या इनसे पहले मोदी वो टीवी पर इसलिए…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

बीते साल में मीडिया के फैलाए टॉप-10 झूठ

बीते साल में मीडिया ने झूठी खबरें फैलाने का रिकॉर्ड बनाया है। ज्यादातर फर्जी खबरें मोदी सरकार के खिलाफ फैलाई गईं। न्यूज वेबसाइट opindia.com ने साल भर के टॉप-10 झूठों की लिस्ट जारी की है। ये झूठ हैं: 1. नोटबंदी…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

मीडिया ने रिजिजू पर चिपका दिया कांग्रेस का घोटाला!

अरुणाचल प्रदेश में एक पनबिजली परियोजना में घोटाले की खबर ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि देश के बड़े चैनल और अखबारों की लगाम अब भी कांग्रेस के पास ही है। सुबह इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने रिपोर्ट…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

मुरथल में जाटों ने नहीं, मीडिया ने ‘गैंगरेप’ किया!

जाट आंदोलन के दौरान हरियाणा के मुरथल में हाइवे पर जा रही महिलाओं से कथित बलात्कार पर मीडिया की रिपोर्ट फर्जी पाई गई है। पुलिस और गांव के लोग ऐसी किसी घटना से इनकार करते रहे हैं। इसके बाद अंग्रेजी…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

क्या आईएसआई के पैसे पर चल रहा है इंडियन एक्सप्रेस?

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस जिस तरह से लगातार पाकिस्तान के पक्ष और भारत के विरोध में खबरें छाप रहा है, उससे यह सवाल उठने लगा है कि क्या यह आईएसआई के पैसे पर चल रहा है। सोशल मीडिया पर खुलकर…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

पहले पेज पर फर्जी खबर छापी, पिछले पेज पर माफी!

नरेंद्र मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए मीडिया का एक तबका किस हद तक गिरने को तैयार है, इसकी एक मिसाल इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने पेश की है। कांग्रेस के दलाल के तौर पर बदनाम होते जा रहे इस…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

जयपुर BMW कांड में मीडिया ने ऐसे चलाया एजेंडा

बीजेपी के खिलाफ मीडिया का गेम जारी है। शुक्रवार देर रात जयपुर में सीकर से निर्दलीय विधायक नंद किशोर महारिया के बेटे ने BMW कार से तीन लोगों की जान ले ली। इसके बाद ही मीडिया ने जो खेल खेला…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

ये अखबार आतंकियों को ‘बागी’ और ‘शहीद’ मानते हैं!

क्या देश के बड़े अखबारों के दफ्तरों में इस्लामी आतंकवाद के समर्थक पत्रकार के तौर पर काम कर रहे हैं? यह सवाल उठ खड़ा हुआ है आज टाइम्स ग्रुप के दो बड़े अखबारों ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ और ‘नवभारत टाइम्स’ की…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

मीडिया ने ऐसे गढ़ी रेल किराये बढ़ने की फर्जी ख़बर

मीडिया का एक तबका नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ फर्जी खबर उड़ाते फिर रंगे हाथ पकड़ा गया है। दरअसल 2-3 दिन से सोशल मीडिया और Whatsapp पर एक खबर शेयर की जा रही थी कि जल्द ही रेल किराये बढ़ने…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

दिल्ली की तरह गोवा में भी ‘बिक’ रहे हैं पत्रकार?

यह सवाल बीते करीब महीने भर से गोवा की मीडिया में उठ रहा है। पिछले रविवार को पणजी में अरविंद केजरीवाल की रैली के पहले और बाद में जिस तरह की मीडिया कवरेज लोकल अखबारों में दिख रही है, उससे…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

क्या टाइम्स ऑफ इंडिया नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ अभियान चला रहा है?

देश का सबसे बड़ा अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया एक बार फिर से विवादों में है। विवाद की वजह कुछ और नहीं बल्कि सोशल मीडिया में अखबार के खिलाफ भड़का गुस्सा है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक दिन पहले खबर…

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें: