Communist

सीपीएम की पोलित ब्यूरो में दलितों का प्रवेश मना है!

दलितों, मजदूरों और शोषितों की बात करने वाली मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी यानी सीपीएम ने एक बार फिर से अपनी सर्वोच्च संस्था पोलित ब्यूरो में दलितों की एंट्री बंद रखी है। 17 सदस्यों की पोलित ब्यूरो में एक भी दलित नेता…


एक बार फिर चीन के समर्थन में खड़ी हुई सीपीएम

इतिहास एक बार फिर से खुद को दोहरा रहा है। 1962 के युद्ध में खुलेआम चीन का साथ देने वाली कम्युनिस्ट पार्टियां एक बार फिर से देश के खिलाफ मुखर हो रही हैं। देश में सबसे बड़ी वामपंथी पार्टी सीपीएम…