Home » Loose Top » लखनऊ के अस्पताल में भी स्टार वाले नखरे दिखा रही हैं कनिका कपूर
Loose Top

लखनऊ के अस्पताल में भी स्टार वाले नखरे दिखा रही हैं कनिका कपूर

ब्रिटेन से भारत आकर ढेरों लोगों में कोरोनावायरस का संक्रमण बाँटने वाली बॉलीवुड की गायिका कनिका कपूर ने अब डॉक्टरों की नाक में दम कर रखा है। कनिका कपूर को कोरोनावायरस की पुष्टि के बाद लखनऊ के पीजीआई अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में रखा गया है, जहां पर उन्होंने डॉक्टरों और दूसरे मेडिकल स्टाफ़ को इतना परेशान किया कि अस्पताल के डायरेक्टर को बयान जारी करके अनुरोध करना पड़ा कि वो सहयोग करें। कनिका कपूर ब्रिटेन से भारत आने के बाद मुंबई एयरपोर्ट के अधिकारियों को गच्चा देकर बाहर निकल गई थीं और वहां से वो लखनऊ आईं और कई पार्टियों वगैरह में शामिल हुईं। शक है कि उन्होंने कई लोगों को इस बीमारी के वायरस से संक्रमित किया होगा। जब पोल खुली तो उसके बाद भी कनिका कपूर झूठ बोलती रहीं और यह सफाई देती रहीं कि उनसे किसी ने 14 दिन घर में रहने को नहीं
बोला था।

अस्पताल में फाइवस्टार के खाने की माँग

लखनऊ के पीजीआई अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कनिका कपूर को शुक्रवार देर शाम को भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि अस्पताल में जब सादा खाना दिया गया तो उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि इलाज में मरीज़ को ग्लूटेन रहित खाना दिया जाता है। उन्हें इस बात की जानकारी भी दी गई, लेकिन उन्होंने नाक-भौं सिकोड़ना जारी रखा। आइसोलेशन वार्ड के जिस कमरे में उन्हें रखा गया है वहाँ पर उनके लिए अलग टायलेट है और रूम में एसी लगा हुआ है। पीजीआई अस्पताल के डायरेक्टर आरके धीमान ने बयान जारी करके अनुरोध किया है कि “आप एक मरीज़ की तरह व्यवहार करें, न कि स्टार्स की तरह नखरे दिखाएं।” डायरेक्टर ने कहा है कि “हम वादा करते हैं कि आपका सबसे बेहतर इलाज करेंगे, लेकिन इसके लिए ज़रूरी है कि आप हमारा सहयोग करें।” पीजीआई अस्पताल यूपी के सबसे अच्छे अस्पतालों में से है और यहाँ की सुविधाओं की तुलना दिल्ली के एम्स से होती है।

बार-बार झूठ बोल रही हैं कनिका कपूर

कनिका कपूर के ख़िलाफ़ यूपी पुलिस ने शुक्रवार को ही एफआईआर दर्ज कर ली थी। उनके ख़िलाफ़ आईपीसी की तीन धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। जिसमें लोगों में संक्रामक बीमारी फैलाकर उनके जीवन को जोखिम में डालने का मामला भी शामिल है। पोल खुलने के बाद से कनिका कपूर लगातार झूठ पर झूठ बोल रही हैं। लखनऊ पुलिस के कमिश्नर सुजीत पांडेय ने कहा है कि “सीएमओ की रिपोर्ट में उन्होंने अपने आने की तारीख़ 14 मार्च बताई है, जबकि वो 11 मार्च को ही आ चुकी थीं।” शुक्रवार देर शाम कनिका कपूर ने कई चैनलों को फ़ोन पर इंटरव्यू दिए जिनमें उनके कई बयानों में अंतर था। यहाँ तक कि उनके पिता का बयान भी उनसे काफ़ी अलग था। इससे इतना साफ़ हो गया कि कनिका कपूर को अब भी एहसास नहीं है कि उन्होंने क्या गलती की है।

एक साथ 3 शहरों को जोखिम में डाला

कनिका कपूर लंदन से मुंबई आईं, वहाँ से वो लखनऊ गईं और फिर वहाँ से कानपुर गईं। पुलिस ने कुल क़रीब 1000 लोगों की पहचान की है जो किसी न किसी तरह से उनके संपर्क में आए। इन सभी की मेडिकल जाँच की जा रही है। यह भी शक जताया जा रहा है कि हो सकता है कि कनिका इस मामले में भी पुलिस को गुमराह कर रही हों कि वो किन-किन लोगों से मिलीं। फ़िलहाल उनकी नासमझी के चलते कोरोनावायरस का ख़तरा सबसे ज़्यादा आबादी वाले उत्तर प्रदेश पर काफ़ी हद तक बढ़ गया है। नीचे आप अस्पताल के डायरेक्टर का बयान देख सकते हैं जो उन्होंने शनिवार को जारी किया है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें


कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

या स्कैन करें

Popular This Week

Don`t copy text!