Loose Top

हमारा अभिनंदन आ गया… पाकिस्तान तुम्हारा शहजाजुद्दीन कहां है?

बायीं तस्वीर विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की है। जबकि दायीं तस्वीर पाकिस्तानी एयरफोर्स के विंग कमांडर शहजाजुद्दीन की है, जिनका कोई अता-पता नहीं है।

पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों की घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब देने वाले पायलट विंग कमांडर अभिनंदन अपने देश लौट आए हैं, इसके साथ ही यह सवाल बड़ा होता जा रहा है कि एफ-16 विमान उड़ाते हुए भारत में घुसे पाकिस्तानी पायलट शहजाजुद्दीन आखिर कहां हैं? हालांकि पाकिस्तानी मीडिया में यह सवाल लगभग पूरी तरह से गायब है, क्योंकि पाकिस्तानी फौज ने वहां की मीडिया पर सेंसर कर रखा है। लेकिन सोशल मीडिया के जरिए लापता पाकिस्तानी पायलट का मामला आखिरकार सामने आ ही गया। इसके मुताबिक भारत में घुसे पाकिस्तानी लड़ाकू विमान के पायलट शहजाजुद्दीन 27 फरवरी को हुई आमने-सामने की टक्कर में मारे गए थे। पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ ने ये खबर अपनी वेबसाइट पर पोस्ट भी की थी, लेकिन सेना के दबाव में उन्हें ये खबर हटानी पड़ी। अब तक सामने आई जानकारी के मुताबिक पाकिस्तानी एफ-16 पर मिसाइल दागने के बाद अभिनंदन के मिग-21 का बैलेंस गड़बड़ हो गया था और फौरन उन्होंने विमान से पैराशूट के जरिए छलांग लगा दी। इसी दौरान एफ-16 के पायलट ने भी अपने पैराशूट से छलांग लगाई। अभिनंदन की तो जान बच गई, लेकिन शहजाजुद्दीन की मौत हो गई। उनकी मौत कैसे हुई इसे लेकर सस्पेंस बना हुआ है।

मिग-21 और एफ-16 की वो टक्कर

सोशल मीडिया पर लोग इसकी तुलना मारुति-800 और फेरारी कार के बीच की टक्कर से कर रहे हैं। मिग-21 बेहद पुरानी टेक्नोलॉजी वाला लड़ाकू विमान है, जबकि एफ-16 फोर्थ जेनरेशन का दुनिया के सबसे ताकतवर फाइटर जेट में से एक है। भारतीय वायुसेना के एक बड़े अधिकारी ने हमें बताया कि एलओसी पर लाम वैली के इलाके में जब पाकिस्तान के तीन लड़ाकू विमानों ने घुसपैठ की तो पहले से तैयार भारतीय मिग विमानों की एक फॉर्मेशन ने उनको सामने से चैलेंज किया। एयरफोर्स की भाषा में इसे Dogfight कहते हैं। इसके बाद दो पाकिस्तान विमान तो सीधे वापस की तरफ मुड़ गए, लेकिन एक एफ-16 विमान कलाबाजियां खाते हुए सीधे आसमान की तरफ भागा। ऐसी स्थिति में अंदाजा नहीं रहता कि वो वापस लौटेगा या फिर पलटकर वार करेगा। ऐसे में विंग कमांडर अभिनंदन ने अपने मिग-21 को एफ-16 के पीछे लगा दिया। इस स्थिति का अंदाजा एफ-16 के पायलट ने बिल्कुल भी नहीं लगाया था। क्योंकि मिग-21 से एफ-6 का पीछा करना बेहद दिलेरी का काम था। ऐसा करने वाला पायलट वही हो सकता है जिसने अपनी मौत का पक्का इरादा करके हमला करने का फैसला किया हो। एक निश्चित दूरी बनाने के बाद मिग-21 के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन ने एफ-16 को निशाने पर लेकर हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल दाग दी। अभिनंदन को अंदाजा था कि इसके बाद उनका विमान हादसे का शिकार हो जाएगा। लिहाजा उन्होंने फौरन अपने पैराशूट से छलांग लगा दी। मिसाइल हमले से घबराए एफ-16 के पायलट ने भी छलांग लगा दी। दोनों को नीचे आते हुए कई स्थानीय लोगों ने देखा भी और अपने कैमरों में उनका वीडियो भी बनाया। अभिनंदन की बदकिस्मती यह रही कि वो पीछा करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में करीब 5 किलोमीटर अंदर घुस चुके थे और पैराशूट से वो एलओसी के उस पार ही उतरे।

पाकिस्तानी पायलट का क्या हुआ?

अभिनंदन को उस इलाके के गांववालों और पाकिस्तानी जवानों ने पकड़ लिया। लेकिन पाकिस्तानी पायलट का क्या हुआ इसका जवाब वहां की सेना या सरकार देने को तैयार नहीं है। पाकिस्तान ने तो अब तक यह भी नहीं माना है कि उसका कोई एफ-16 विमान गिरा है। जबकि विमान के मलबे की जो तस्वीरें गिरी थीं उसके आधार पर पहचान हो चुकी है कि वो टुकड़े एफ-16 के ही थे। दोनों विमान लाम वैली में कुल 3 किलोमीटर के दायरे में गिरे थे। दोनों पायलट भी उसी दायरे में उतरे। पाकिस्तान ने पहले दावा किया था कि उसने दो भारतीय पायलट पकड़े हैं। इसकी वजह भी यही है। कुछ पाकिस्तानी सूत्रों ने दावा किया है कि गांववालों ने एफ-16 के पायलट को भारतीय समझकर पीट-पीटकर मार डाला। जब तक मौके पर पाकिस्तानी सेना पहुंची पायलट अधमरा हो चुका था। उसके कपड़े वगैरह बुरी तरह फट चुके थे। पाकिस्तानी जवानों ने अपने कमांड सेंटर को पहला संदेश यही भेजा था कि उन्हें यहां दो भारतीय पायलट मिले हैं। बाद में उन्हें समझ में आया कि जो पायलट अधमरी हालत में है वो पाकिस्तानी है। उसके कागजात चेक किए गए तो उनमें उनका नाम विंग कमांडर शहजाजुद्दीन लिखा था, जो 19वीं स्क्वाड्रन (शेरदिल) के पायलट थे। फौरन उन्हें पास के एक आर्मी हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पाकिस्तानी जवानों को जब अपनी गलती का पता चला, तब तक वहां की सरकार और सेना के अफसर ढिंढोरा पीट चुके थे कि वो दो भारतीय पायलटों को पकड़ चुके हैं। अब उनके पास इस मामले को रफा-दफा करने के सिवा कोई रास्ता नहीं था। पाक सेना के पास ज्यादा विकल्प वैसे भी नहीं थे क्योंकि वो एफ-16 का इस्तेमाल अवैध तरीके से कर रही थी। यही कारण है कि पाकिस्तान ने अपने ही पायलट की शहादत को मानने से इनकार कर दिया।

नीचे आप उस विमान का मलबा देख सकते हैं जिसे दुनिया ने माना है कि वो एफ-16 का ही है। सवाल यही बचता है कि इसका पायलट कहां है?

‘डॉन’ अखबार ने खबर क्यों हटाई?

पाकिस्तान के अखबार ‘डॉन’ ने विंग कमांडर शहजाजुद्दीन की गुमशुदगी पर एक रिपोर्ट भी अपनी वेबसाइट पर पोस्ट की थी। इसमें उन्होंने स्थानीय लोगों के हवाले से बताया था कि दो पायलट नीचे गिरे थे, जिनमें से एक बहुत बुरी तरह से घायल हो चुका था। उसकी पूरी ड्रेस भी फट चुकी थी। लोगों ने उसे भारतीय समझा और पीटना शुरू कर दिया। दूसरी तरफ भारतीय पायलट अभिनंदन की पैराशूट से सुरक्षित लैंडिंग हुई थी। पहले वो समझ नहीं पाए कि वो भारतीय इलाके में उतरे हैं या पाकिस्तानी। वहां पर उन्होंने खुद को बचाने और वापस भारतीय सीमा की तरफ लौटने की भी कोशिश की थी। उन्हें भी लोगों ने पकड़ा और मारना शुरू किया, लेकिन पाकिस्तानी जवानों ने उन्हें समय रहते बचा लिया। फिलहाल इस बात की कोई उम्मीद नहीं है कि पाकिस्तान कभी अपने विंग कमांडर की शहादत को कबूल करेगा। सवालों के जवाब देने के बजाय पाकिस्तान वहां के पत्रकारों के जरिए फर्जी दावे जारी कर रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि अगर शहजाजुद्दीन की मौत का दावा गलत है तो पाकिस्तानी सेना उन्हें एक बार अपनी मीडिया के आगे हाजिर क्यों नहीं कर देती?

नीचे वीडियो में आप दो पायलटों को पैराशूट से आते हुए देख सकते हैं। एक तो विंग कमांडर अभिनंदन थे, दूसरा कौन था?

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

Polls

क्या अमेठी में इस बार राहुल गांधी की हार तय है?

View Results

Loading ... Loading ...