60 हिंदू नामों वाला ‘लव जिहादी’ कार मैकेनिक गिरफ्तार

देशभर में लव जिहाद की घटनाओं के बीच यूपी के अमरोहा में एक ऐसा शख्स पकड़ा गया है जिसने 60 से ज्यादा हिंदू लड़कियों को अपना शिकार बना रखा था। इसका नाम अरमान मलिक है और ये फेसबुक पर अलग-अलग हिंदू नामों से लड़कियों से चैट किया करता था और उन्हें अपनी बातों में फंसाकर उनका यौन शोषण किया करता था। पिछले दिनों इसने चंडीगढ़ में तैनात एक महिला मजिस्ट्रेट से भी हिंदू नाम वाले फेसबुक प्रोफाइल पर उसने चैटिंग करनी शुरू की थी। लेकिन जल्दी ही उन्हें शक हो गया कि ये कोई जालसाज है। महिला मजिस्ट्रेट ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी। जांच के बाद यूपी के अमरोहा से अरमान मलिक नाम के लड़के को पकड़ा गया। अमरोहा के एसपी सुधीर कुमार सिंह ने इस गिरफ्तारी की जानकारी दी है। (नीचे देखें वीडियो) यह भी पढ़ें: लव जिहाद के लिए मार दी गई एक और हिंदू लड़की

गिरफ्तारी के बाद खुली पोल

अरमान मलिक नाम का यह लड़का अमरोहा के मोहल्ला नई बस्ती तकिया मोती शाह का रहने वाला है। इलाके में उसे दिलशाद और नौशाद नामों से भी जाना जाता है। पेशे से कार मैकेनिक का काम करने वाला अरमान मलिक बाकी समय में फेसबुक पर हिंदू लड़कियों को फंसाने में जुटा रहता था। उसने अलग-अलग हिंदू नामों से ढेरों फेसबुक प्रोफाइल बना रखे थे। ये सारे काम वो अपने मोबाइल फोन से किया करता था। पुलिस यह पता करने की कोशिश कर रही है कि उसके इस काम में क्या कुछ और भी मददगार थे। यहां हम आपको बता दें कि लव जिहाद को ज्यादातर स्थानीय मस्जिदों से मदद मिलती है। आम तौर पर ऐसे लव जिहादियों को उनके काम के बदले आर्थिक भुगतान भी किए जाते हैं। यह भी पढ़ें: लव जिहाद की शिकार इस मॉडल की आपबीती सुनिए

लव जिहाद का कारोबार

टाइम्स नाऊ चैनल की पड़ताल के मुताबिक देश के कई राज्यों में लव जिहाद बाकायदा उद्योग का रूप ले चुका है। कई मुसलमान लड़के हिंदू लड़कियों के पीछे पड़कर उनसे दोस्ती करने की कोशिश करते हैं। ज्यादातर बार वो अपनी पहचान और नाम भी बदल लेते हैं। एक बार लड़की जाल में फंस जाती है तो उसके पास वापस लौटने का कोई रास्ता नहीं बचता। लड़कियों के अलावा दूसरे गरीबों और कमजोर तबकों को भी जाल में फंसाने की अलग तरीके से कोशिश चलती रहती है। अकेले केरल में 2011 से 2015 के बीच 6000 से ज्यादा लोग इस्लाम कबूल चुके हैं। इनमें से आधी महिलाएं हैं। जिनमें 76 फीसदी की उम्र 35 साल से कम है। मदरसों में बाकायदा ये रेट कार्ड छपवा कर बांटा जाता है। इनके साथ हेल्पलाइन नंबर भी होते हैं ताकि किसी तरह की कानूनी या अलग तरह की मदद दी जा सके। ये लिस्ट पूरे देश के लिए है। नीचे आप अमरोहा के एसपी सुधीर कुमार सिंह का बयान सुन सकते हैं, जिसमें उन्होंने अरमान मलिक की करतूतों की विस्तार से जानकारी दी है।

संबंधित रिपोर्ट
लव जिहाद की शिकार हुई शीला दीक्षित की बेटी?

ब्राह्मण 5 लाख, दलित 2 लाख! जानिए क्या है लव जिहाद का रेट कार्ड

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,