‘चायवाले’ मोदी के लिए कांग्रेस नेताओं की 5 गालियां

कहते हैं कि किसी के मुश्किल दिनों या गरीबी का कभी मज़ाक नहीं उड़ाना चाहिए। ऐसा करने वाले को आह लगती है जो उसका सर्वनाश भी कर सकती है। 2014 से पहले नरेंद्र मोदी को चायवाला कहकर अपमानित करने वाली कांग्रेस ने एक बार फिर बचपन में उनके चाय बेचने को लेकर मज़ाक बनाने की कोशिश की है। यूथ कांग्रेस के ट्विटर हैंडल युवा देश से एक तस्वीर शेयर की गई, जिसमें पीएम मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे खड़े होकर बात कर रहे हैं। इस तस्वीर में ब्रिटिश प्रधानमंत्री को नरेंद्र मोदी को ‘तू चाय बेच’ कहते दिखाया गया है। यानी प्रधानमंत्री मोदी बचपन में अगर चाय बेचते थे तो ये कोई निकृष्ट काम था। शायद अंग्रेजों की गुलामी की अपनी मानसिकता के चलते यह बात ब्रिटिश पीएम के मुंह से बुलवाई है। हम आपको बताते हैं वो 5 मौके जब कांग्रेस ने पीएम मोदी को इस तरह से अपमानित करने की कोशिश की।

1. मणिशंकर अय्यर

2014 के लोकसभा चुनाव के पहले जब बीजेपी ने चाय पर चर्चा कार्यक्रम शुरू किया था तब कांग्रेस के अधिवेशन में बैठकर कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने बेहद अपमानजनक लहजे में कहा था कि “इक्कीसवीं सदी में नरेंद्र मोदी कभी भी इस देश के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। हां अगर वो चाय का वितरण करना चाहते हैं तो हम उनके लिए यहां पर कुछ इंतजाम कर देंगे।” तब कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं ने इस बयान पर खेद जताना भी जरूरी नहीं समझा था। उस दौर में राहुल गांधी की भी भाषा कुछ ऐसी ही हुआ करती थी। लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में जनता ने कांग्रेस पार्टी को 44 सीटों पर ला दिया और मणिशंकर अय्यर की हैसियत आज दो कौड़ी की रह गई है। देखिए अय्यर का वो बेहूदा बयान।

2. सलमान खुर्शीद

2014 के चुनाव प्रचार के दौरान मंत्री सलमान खुर्शीद ने फर्रुखाबाद में प्रचार करते हुए मोदी के लिए ‘नपुंसक’ शब्द का इस्तेमाल किया। यह बयान उन्होंने 2002 के दंगों के सिलसिले में दिया। सलमान खुर्शीद यूं भी निजी तौर पर पीएम मोदी को लेकर भद्दे किस्म की बयानबाजी के लिए जाने जाते रहे हैं। खुद एनजीओ के नाम पर विकलांगों का पैसा खाने के आरोपी सलमान खुर्शीद के इस बयान को लेकर तब काफी हंगामा हुआ था। लोगों में इस बात को लेकर भारी नाराजगी भी दिखी थी और इसी का नतीजा हुआ कि अपना गढ़ माने जाने वाली फर्रुखाबाद सीट से भी सलमान खुर्शीद चुनाव नहीं जीत पाए।

3. राशिद अल्वी

इंडिया टीवी के एक प्रोग्राम में कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने पीएम मोदी को लेकर ऐसी बेहूदा टिप्पणी की, जिससे लोगों का गुस्सा भड़क उठा। तब मंच पर मौजूद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राशिद अल्वी की रही-सही इज्जत भी तार-तार कर दी थी। नीचे देखिए उस घटना का वीडियो।

4. तहसीन पूनावाला

प्रियंका वाड्रा के रिश्तेदार और कांग्रेस के प्रवक्ता तहसीन पूनावाला ने कुछ वक्त पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को लेकर बेहद फूहड़ टिप्पणी ट्विटर पर की थी। स्मृति ईरानी ने उस ट्वीट का जिक्र सीएनएन-आईबीएन चैनल को एक इंटरव्यू में भी किया था। नीचे आप उस वीडियो को देख सकते हैं।

5. दिग्विजय, मनीष तिवारी की गालियां

दिग्विजय सिंह और मनीष तिवारी जैसे कांग्रेसी नेता तो सीधे प्रधानमंत्री के लिए गाली-गलौज की भाषा पर उतारू हो चुके हैं। दोनों ने ट्विटर पर कई बार पीएम को लेकर अभद्र टिप्पणियां की हैं। देखिए नमूना

ये वो आम दिनों की गालियां हैं जो कांग्रेस पार्टी के नेता पीएम नरेंद्र मोदी को देते रहते हैं। इसके अलावा पिछले चुनावों में सोनिया गांधी से लेकर कांग्रेस के तमाम छोटे-बड़े नेताओं ने मोदी के लिए वैसी भाषा का इस्तेमाल किया है जिसे कतई शिष्ट नहीं माना जा सकता।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,