Loose Top

अहमद पटेल के अस्पताल का ‘आतंकवादी कनेक्शन’!

गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता और सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल के खिलाफ बहुत बड़ा मामला सामने आया है। अहमद पटेल पर अपने अस्पताल में आतंकवादियों को पनाह देने का आरोप लगा है। ये आरोप खुद गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने लगाया है। रुपाणी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस मामले से जुड़ी सनसनीखेज जानकारियां मीडिया के आगे रखीं हैं। उन्होंने बताया कि गुजरात एटीएस ने कुछ दिन पहले जिन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है उनमें से एक कांग्रेस नेता अहमद पटेल के अस्पताल में नौकरी करता था। गिरफ्तार आतंकवादियों के संबंध अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन ISIS से बताया जा रहा है। अहमद पटेल ने भरूच में बने इस अस्पताल का उद्घाटन 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से करवाया था। यहां हम आपको बता दें कि अहमद पटेल को कांग्रेस की तरफ से सीएम पद का चेहरा माना जा रहा है।

अहमदाबाद को दहलाने की साज़िश थी!

गिरफ्तार आतंकवादी मोहम्मद कासिम से एटीएस अभी पूछताछ कर रही है। जो सबसे बड़ी बात सामने आई है वो ये कि आतंकवादी चुनाव से पहले अहमदाबाद में एक हिंदू धर्म गुरु की हत्या और एक यहूदी धर्मस्थल में घुसकर खूनखराबे की साजिश रच रहे थे। उनके पास से इस साजिश से जुड़े कई दस्तावेज भी मिले हैं। सूत्रों के मुताबिक यह बात भी सामने आई है कि आतंकवादी निशाने वाली जगहों की रेकी भी कर चुके थे और चुनाव की तारीखों का एलान होने के बाद किसी भी दिन साजिश को अंजाम देने की तैयारी थी। अहमदाबाद के अलावा ये आतंकी बैंगलोर में सक्रिय रह चुके थे। गिरफ्तारी से दो दिन पहले ही कासिम ने अहमद पटेल के अस्पताल में नौकरी से इस्तीफा दिया था। वो सरदार पटेल हॉस्पिटल में इको-कार्डियोग्राम डिपार्टमेंट में टेक्नीशियन के तौर पर काम करता था, जबकि दूसरा आतंकी उबेद सूरत की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में एडवोकेट था।

‘अस्पताल से मेरा कोई लेना-देना नहीं’

अहमद पटेल ने सारे आरोपों को सिरे से खारिज किया है, उनका कहना है कि मैं या मेरे परिवार का कोई सदस्य अस्पताल में ट्रस्टी भी नहीं है। हालांकि इस अस्पताल को इलाके में अहमद पटेल के अस्पताल के तौर पर ही जाना जाता है। यहां तक कि इसके उद्घाटन में भी अहमद पटेल मंच पर थे। अस्पताल की तरफ से जारी औपचारिक बयान में माना गया है कि गिरफ्तार आतंकवादी वहीं पर नौकरी करता था। उधर कांग्रेस पार्टी भी अपने नेता के बचाव में कूद पड़ी है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि इस मामले पर बीजेपी राजनीति कर रही है। फिलहाल गुजरात एटीएस आतंकवादियों से पूछताछ कर रही है और जल्द ही पूरी साजिश और मददगारों का चेहरा सामने आने की उम्मीद की जा सकती है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...