राम रहीम के बाद हनीप्रीत का नया ‘पापा’ कौन है?

बलात्कार के आरोप में जेल की हवा खा रहे बाबा गुरमीत राम रहीम की करीबी हनीप्रीत उर्फ प्रियंका तनेजा सामने आ गई है। पुलिस ने उसे पंजाब के जीरकपुर से गिरफ्तार किया। पूछताछ में यह बात सामने आ गई है कि इतने दिनों तक हनीप्रीत को छिपाने में पंजाब कांग्रेस के एक नेता का हाथ था। 25 अगस्त से ही फरार रही हनीप्रीत ने पुलिस को इस दौरान अपनी लोकेशन की जानकारी दी है। साथ ही उन लोगों के नाम भी बता दिए हैं, जो उसकी मदद कर रहे थे। इस लिस्ट में सबसे चौंकाने वाला नाम पंजाब कांग्रेस के एक नेता का है जिसकी जांच अभी चल रही है। अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ ने भी दावा किया है कि हनीप्रीत ने हरियाणा पुलिस के सामने खुलासा किया है कि वह बीते दिनों में कई कांग्रेसी नेताओं के संपर्क में थी। वह किन कांग्रेसी नेताओं के संपर्क में थी और इसका मकसद क्या था, इस बात की जानकारी अभी तक नहीं मिल पाई है।

कांग्रेस के नेता की कठपुतली!

जो जानकारी सामने आ रही है उसके मुताबिक पंजाब कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं का हनीप्रीत को गायब कराने में हाथ था। मकसद यह था कि जब उसे लेकर मीडिया में खबरें चलेंगी तो हरियाणा सरकार की फजीहत होगी। टाइम्स नाऊ के रिपोर्टर ने बताया है कि एक कांग्रेसी नेता ही हनीप्रीत को बता रहा था कि उसे कब और क्या करना है और कहां जाना है। एक जगह से दूसरी जगह वो पंजाब के एक विधायक की गाड़ी से आ-जा रही थी ताकि सिक्योरिटी के कारण पुलिस उसे पकड़ न सके। हरियाणा पुलिस के कई अफसर भी चोरी-छिपे हनीप्रीत की मदद कर रहे थे। कुछ अफसरों के नाम भी पुलिस को मिले हैं। ये वो अफसर हैं जो राजनीतिक तौर पर कांग्रेस के लिए निष्ठावान बताए जाते हैं।
यह भी पढ़ें: अब हरियाणा पर है ईसाई मिशनरियों की गिद्ध दृष्टि

हरमिंदर जस्सी को लेकर शक

वैसे कुछ समय पहले से ही पंजाब में कांग्रेस के दिग्गज नेता हरमिंदर सिंह जस्सी का नाम हनीप्रीत से अपने रिश्तों के कारण सामने आता रहा है। डेरे के अनुयायी रहे भूपेंद्र सिंह गोरा ने कुछ दिन पहले मीडिया से बातचीत में कहा था कि पंजाब कांग्रेस के नेता हरमिंदर सिंह जस्सी ने हनीप्रीत को अपनी कस्टडी में रखा हुआ है। गोरा का आरोप है कि जिस समय हरियाणा सरकार ने डेरा में सर्च के लिए हाईकोर्ट में अपील लगाई हुई थी, उसी समय जस्सी डेरे के सामान को ठिकाने लगाने में लगा था। गोरा ने तभी कहा था कि हरियाणा पुलिस अगर जस्सी से पूछताछ करेगी तो यकीनन न केवल हनीप्रीत का पता चल जाएगा, बल्कि डेरे से गायब सामान का भी पता मिल जाएगा। फिलहाल सोशल मीडिया पर लोग खुलकर इस मामले में लिख रहे हैं। ज्यादातर लोगों का कहना है कि मीडिया हरियाणा पुलिस और सरकार से सवाल पूछती रही, जबकि हनीप्रीत को पंजाब कांग्रेस ने छिपा रखा था।
संबंधित रिपोर्ट: राम रहीम की कहानी, सीबीआई अफसर की जुबानी

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,