Home » Loose Top » कहानी मीरा कुमार के भाई और एक सेक्स स्कैंडल की
Loose Top

कहानी मीरा कुमार के भाई और एक सेक्स स्कैंडल की

कौन थी सुषमा चौधरी?

सुषमा लोअर मिडिल क्लास जाट परिवार की लड़की थी। वो बड़ी खूबसूरत और बेहद महत्वाकांक्षी थी। उसे जानने वालों के मुताबिक सुषमा काफी ऊंची उड़ान भरना चाहती थी। तब वो अपने घर से कॉलेज तक आने-जाने के लिए दिल्ली की सड़कों पर लंबी कारों वाले अनजान लोगों से लिफ्ट लिया करती थी। सुषमा के परिवार वालों का कहना था कि सुरेश राम के साथ उसकी शादी भी हो गई थी और वह जगजीवन राम के साथ ही उनके 6, कृष्ण मेनन मार्ग वाले सरकारी बंगले पर रहती थी। सुरेश राम ने अपनी बीवी को तलाक नहीं दिया था और इस कांड के सामने आने के बाद उन्हें अपने पिता का बंगला छोड़ना पड़ा था। इस बंगले पर आजकल मीरा कुमार का कब्जा है। उन्होंने इसे अपने पिता का स्मारक बना दिया है। यह भी पढ़ें: मीरा कुमार जी सरकारी बंगला खाली कब करेंगी?

इंदिरा के रास्ते का कांटा हटा

जगजीवन राम जैसे लोकप्रिय नेता के पतन से इंदिरा गांधी के रास्ते का कांटा साफ हो गया था। क्योंकि अब वो आराम से अपनी कठपुतली के तौर पर चौधरी चरण सिंह को कुर्सी पर बिठा सकती थीं। ये खेल इतनी सावधानी से रचा गया था कि सबको यही लगा कि जगजीवन राम के खिलाफ साजिश चौधरी चरण सिंह ने ही की होगी। कहते हैं कि चौधरी चरण सिंह को भी इसमें शामिल किया गया था। मामला सामने आने के बाद कई महीनों तक जगजीवन राम की फजीहत होती रही थी। सरकार के इशारे पर पुलिस कभी सुरेश राम की चिट्ठियां मीडिया में जारी कर देती तो कभी उनके घर में मिली ढेरों अश्लील तस्वीरें।

सत्ता के लिए बलि बने ‘दलित’

उस दौर के कई वरिष्ठ पत्रकार भी इस बात की पुष्टि कर चुके हैं कि सारा खेल वास्तव में कांग्रेस को दोबारा सत्ता में स्थापित करने के मकसद से खेला गया था। वरिष्ठ पत्रकार इंदर मल्होत्रा उन दिनों एक अंग्रेजी अखबार के संपादक थे। उन्होंने बताया था कि सुरेश राम की तस्वीरें उनके अखबार को भी भेजी गई थीं, पर उन्होंने इन्हें किसी के निजी जीवन में हस्तक्षेप मानते हुए छापने से इनकार कर दिया था। लेकिन जिस तरह से उन्हें लिया गया था, उससे साफ था कि ये सियासी साजिश से ज्यादा कुछ नहीं। इंदर मल्होत्रा कहते हैं कि “उस वक्त तक जनता पार्टी में पूरी तरह बिखर चुकी थी। मोरारजी देसाई के बाद जगजीवन राम का नाम पक्का था। इंदिरा गांधी नहीं चाहती थीं कि जगजीवन राम जैसा कोई लोकप्रिय और मजबूत नेता इस पद पर बैठे।”

सुरेश राम और सुषमा चौधरी का क्या हुआ? जानने के लिए अगले पेज (3) पर क्लिक करें

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए:

OR

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!