Loose Top

सुनिए अखिलेश के मंत्री की धमकी- ‘जिंदा जला दूंगा’

बीच की तस्वीर मंत्री राधेश्याम सिंह की है, जिन्होंने पत्रकार को जिंदा जलाने की धमकी दी है। दायीं तस्वीर पीड़ित पत्रकार मनोज गिरी की है।

यूपी में अखिलेश यादव सरकार के एक मंत्री ने एक पत्रकार को पेट्रोल डालकर जलाने की धमकी दी है। मंत्री का नाम है राधेश्याम सिंह। उनका एक ऑडियो टेप (नीचे सुनें) सामने आया है, जिसमें वो अमर उजाला अखबार के पत्रकार और उसके दोस्त को भद्दी-भद्दी गालियां दे रहे हैं। पत्रकार ने राधेश्याम सिंह की धमकी का ऑडियो टेप पुलिस को सौंप दिया है और अपनी जान पर खतरे का अंदेशा जताया है। मामला कुशीनगर जिले का है। राधेश्याम सिंह कुशीनगर की हाटा सीट से चुनाव मैदान में हैं।

चुनाव में साथ न देने से थे नाराज

अखिलेश सरकार में चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री राधेश्याम चाहते थे कि पत्रकार मनोज गिरी और उनके एक साथी, जो ग्राम प्रधान हैं वो चुनाव में समाजवादी पार्टी को वोट दिलवाएं। जब दोनों ने मंत्री की बात मानने से इनकार कर दिया तो उनका पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। शनिवार को दोपहर करीब 2 बजे अपने मोबाइल नंबर 9415211794 से फोन करके राधेश्याम सिंह ने पत्रकार और उनके दोस्त को पहले मां-बहन की गालियां दीं और फिर जिंदा जला देने की धमकी दी। मंत्री जी ने यहां तक कह डाला कि चुनाव के कारण वो अभी कुछ नहीं कर रहे हैं।

पेट्रोल डालकर जलाने की धमकी

मंत्री ने फोन पर यह भी कहा कि 4 मार्च को वोटिंग के बाद शाम को 5 बजे वो अखबार के दफ्तर और पत्रकार पर पेट्रोल डालकर जला देंगे। इसके बाद से मनोज और उनका परिवार दहशत में है। जिले के पत्रकारों ने इस मामले में जिले के एसपी से मुलाकात की और उनसे मंत्री के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। मंत्री की ऐसी करतूतों का ये पहला मामला नहीं है। 2014 में लोकसभा चुनाव के वक्त राधेश्याम सिंह ने बिजली विभाग के एक अफसर को फोन करके उसे जातिसूचक गालियां देते हुए धमकाया था। अधिकारी ने मंत्री के खिलाफ पुलिस में केस दर्ज कराया, लेकिन चुनाव के बाद अखिलेश सरकार ने वो मामला दबा दिया।

पत्रकारों को जिंदा जलाने की परंपरा

वैसे अखिलेश सरकार में पत्रकारों को जिंदा जलाने का वाकया पहले भी हो चुका है। इससे पहले अखिलेश के करीबी मंत्री राममूर्ति वर्मा पर पत्रकार जागेंद्र सिंह को जिंदा जलाने का आरोप लगा था। इतने गंभीर आरोप के बावजूद अखिलेश ने राममूर्ति वर्मा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। जबकि मरने से पहले खुद जागेंद्र ने अपने बयान में कहा था कि उन पर हमला मंत्री राममूर्ति वर्मा ने करवाया है।

नीचे क्लिक करके आप मंत्री की वो फोन कॉल सुन सकते हैं, जिसमें उन्होंने पत्रकार को फोन करके गाली दी और जिंदा जलाने की धमकी दी:

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!