Loose Views

अखिलेश यादव आप ही हो ‘गुंडों’ के असली नेताजी!

तो अखिलेश भैया। पिता और चाचा के किनारे होते ही। आपके भी समाजवाद की तस्वीर साफ हो गई। क्या लड़े थे आप! अतीक़ अहमद। मुख़्तार अंसारी। डीपी यादव। जैसे डॉन टाइप के लोगों के खिलाफ। गायत्री प्रजापति जैसे। खनन माफ़िया टाइप के मंत्री के ख़िलाफ़। क्या बग़ावत की थी आपने। हम तो मुरीद हो गए थे। बड़ी सहानुभूति होती थी। कि देखो न। पिता और चाचा मिलकर। एक अच्छे भले लड़के को। भ्रष्ट और अपराधियों के साथ खड़े होने के लिए। मजबूर किए जा रहे हैं। आपकी हिम्मत की तो हम दाद देते थे।

अब जबकि समाजवादी पार्टी के आप ही सर्वेसर्वा हैं। 1 से लेकर 100 तक केवल आप ही आप हैं। तो आपकी कैंडिडेट लिस्ट भी गज़ब की निकली। वही खनन माफिया टाइप मंत्री। गायत्री प्रजापति। आपकी लिस्ट की शान है। अपहरण और दबंगई के आरोपों का दूसरा नाम। वही गोंडा वाला मंत्री। पंडित सिंह। लिस्ट में मुस्कुरा रहा है। शशि की जघन्य हत्या और बलात्कार कांड का कुख्यात आरोपी। वही आनन्द सेन। ठहाका लगा रहा है। वही बस्ती का बाहुबली राजकिशोर सिंह। जिसे आपने ही कैबिनेट से हटाया था। वही दुष्कर्म का आरोपी मनोज पारस, जिसका रेप पीड़िता के विरोध के बाद आपने ही टिकट काटा था। वही NHRM घोटाले में जेल की हवा खा चुका मुकेश श्रीवास्तव। वही बाहुबली द ग्रेट अभय सिंह। पवन पांडेय। ब्रम्हदत्त हत्याकांड का आरोपी विजय सिंह। सबके सब अट्टहास कर रहे हैं।

पिता मुलायम और चाचा शिवपाल ने वाकई गज़ब त्याग किया। जब तक रहे। सारा दाग अपने ऊपर लेते रहे। सारा पाप अपने सिर माथे ले लिया। आप पर आंच तक न आने दी। अब वे हाशिए पर हैं। ये नया समाजवाद है। हवाओं में नारा गूँज रहा है। नो कंफ्यूज़न। नो मिस्टेक। जय जय जय जय। जय अखिलेश। बहुत बहुत शुभकामनाएं सीएम साहब!

(लेखक अभिषेक उपाध्याय टीवी पत्रकार हैं। यह लेख उनके फेसबुक पेज से साभार लिया गया है। लेख की हेडलाइन लेखक द्वारा नहीं लिखी गई है। इसलिए उसके लिए न्यूज़लूज़ जिम्मेदार माना जाए)

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!