पंजाब में एनडीटीवी ने आप के लिए ‘प्रचार’ शुरू किया

जानकर शायद आपको हैरानी होगी, लेकिन न्यूज चैनल एनडीटीवी ने पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए प्रचार की जिम्मेदारी संभाल ली है। एनडीटीवी चैनल पर बीते कुछ दिनों में आम आदमी पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने वाली फर्जी खबरों की भरमार हो गई है। कुल मिलाकर ऐसा जताने की कोशिश है कि पंजाब में आम आदमी पार्टी जीत रही है। एनडीटीवी लगभग सभी चुनावों में इस तरह से किसी न किसी एक पार्टी या गठबंधन के लिए प्रचार का काम करता रहा है। दिल्ली चुनाव के वक्त भी चैनल ने आम आदमी पार्टी के लिए प्रचार की जिम्मेदारी संभाली थी। चैनल के संपादकों का मानना है कि पंजाब में भी दिल्ली की तरह ही चौंकाने वाले नतीजे आ सकते हैं।

इसी पेज पर नीचे आप एनडीटीवी की वेबसाइट की वो खबरें देख सकते हैं, जिनसे साफ हो जाएगा कि चैनल खुलकर आम आदमी पार्टी के लिए प्रचार कर रहा है, क्योंकि इनमें से ज्यादातर खबरें फर्जी हैं।

प्रचार की कमान रवीश कुमार के हाथ में

एनडीटीवी के एक पत्रकार ने हमें बताया कि रिपोर्टरों और आउटपुट टीम से कुछ दिन पहले ही कह दिया गया है कि हमें चुनाव में आम आदमी पार्टी का समर्थन करना है। चैनल की ऑनलाइन टीम को भी इस फैसले की जानकारी दे दी गई है। कुल मिलाकर फोकस अकाली दल-बीजेपी गठबंधन के खिलाफ और आम आदमी पार्टी के समर्थन पर रहेगा। पंजाब से आने वाली खबरों पर नजर रखने की जिम्मेदारी रवीश कुमार संभाल रहे हैं। अभी तक यह साफ नहीं है कि कांग्रेस के लिए चैनल का क्या रुख रहेगा। ज्यादातर ओपीनियन पोल में पंजाब में कांग्रेस के सबसे बड़े दल के तौर पर उभरने का अनुमान लगाया गया है।

केजरीवाल के खिलाफ खबरों पर ‘रोक’

चैनल में दिल्ली के रिपोर्टरों से ऐसी कोई खबर कवर नहीं कराई जा रही है, जिससे यह जाहिर होता हो कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार दरअसल फेल रही है। दिल्ली में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल पर केजरीवाल सरकार के रवैये और खस्ताहाल डीटीसी बसों का किराया कम करने जैसे फैसलों को भी महिमामंडित किया जा रहा है। सफाई कर्मचारियों की हड़ताल को लेकर केजरीवाल सरकार पर एनजीटी ने बेहद सख्त टिप्पणियां की हैं, लेकिन यह सबकुछ एनडीटीवी चैनल पर आपको नहीं पता चलेगा। हालांकि दर्शकों को भ्रम में रखने के लिए बीच में कुछ छोटी-मोटी आलोचना की खबरें भी दिखाई जाती रहेंगी। चैनल की वेबसाइट के लिए तो सीधे आम आदमी पार्टी के दफ्तर से लिखकर स्टोरीज आ रही हैं। जो दरअसल विज्ञापन हैं, लेकिन उन्हें एडिटोरियल की तरह पोस्ट किया गया है।

चंदा-बंद आंदोलन को नजरअंदाज किया

आम आदमी पार्टी के नाराज वॉलेंटियर्स इन दिनों दिल्ली से लेकर पंजाब तक चंदा-बंद आंदोलन चला रहे हैं। वो घर-घर घूमकर लोगों से आम आदमी पार्टी को चंदा न देने की अपील कर रहे हैं। एनआरआई डॉक्टर मुनीष रायजादा की अगुवाई में चल रहे इस आंदोलन को आम लोगों का भरपूर समर्थन भी मिला है। तमाम छोटे-बड़े अखबारों और चैनलों ने चंदा-बंद आंदोलन से जुड़ी खबरों को जगह दी, लेकिन एनडीटीवी ने इस खबर को पूरी तरह ब्लैकआउट किया। आने वाले दिनों में चैनल का यह रुख और भी खुलकर सामने आने की उम्मीद है।

नीचे आप वो 2 खबरों की हेडलाइन देख सकते हैं, जो दरअसल विज्ञापन हैं।

जैसा कि बताया गया है कि लोग ‘विमानों में भरकर पहुंच’ रहे हैं, लेकिन सच यह है कि पंजाब में इस सीजन में विदेश से काफी लोग आते हैं। इसके 2 कारण है लोहड़ी और शादियां। लेकिन एनडीटीवी ने इस बात को छिपाकर लोगों के वापस लौटने को आम आदमी पार्टी के समर्थन में बता डाला।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , ,