ऑस्ट्रेलिया भी करेगा नोटबंदी, भारत से लिया सबक!

ब्लैकमनी से परेशान ऑस्ट्रेलियाई सरकार नोटबंदी पर विचार कर रही है। भारत में इस तरीके की कामयाबी से ऑस्ट्रेलिया के अधिकारी उत्साहित हैं और उन्होंने इस पर काम शुरू भी कर दिया है। भारत में ऑस्ट्रेलिया की उच्चायुक्त हरिंदर सिद्धू ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में ये बात कही है। उन्होंने कहा कि हमारे देश ने भारत में नोटबंदी के ऐलान और उसके बाद के अनुभवों से सीख लिया है। ऑस्ट्रेलिया सरकार का मानना है कि जिस तरह से यह प्रयोग भारत में सफल रहा है उसी तरह इसे ऑस्ट्रेलिया में भी अमल में लाया जा सकता है।

‘आथिक सुधार का सबसे असरदार तरीका’

ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त ने कहा कि हमने अपनी स्टडी में पाया है कि ये सिस्टम में बड़े बदलाव का एक अच्छा तरीका साबित हुआ है। बड़े नोट हटाने से समानांतर चलने वाली काली अर्थव्यवस्था एक झटके में साफ हो गई है। वरना दूसरे तरीकों से इसी काम को करने में काफी लंबा वक्त लग जाता है और कई बार सही नतीजे भी नहीं मिलते हैं। उन्होंने नोटबंदी के लिए भारत सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति की भी तारीफ की। उनका कहना था कि लोगों की नाराजगी के डर से दुनिया की ज्यादातर लोकतांत्रिक सरकारें इतना बड़ा कदम उठाने से डरती हैं। भारत से पहले किसी और देश ने इतने बड़े पैमाने पर यह काम नहीं किया था। ऐसे में इस फैसले को लेकर आने वाली व्यावहारिक दिक्कतें हमारे लिए एक सबक की तरह काम करेंगी।

काले धन की इकोनॉमी से परेशान ऑस्ट्रेलिया

भारत की तरह ही ऑस्ट्रेलिया भी काले धन की समानांतर अर्थव्यवस्था के कारण बहुत परेशान रहा है। इसके कारण बीते कुछ सालों में वहां तरह-तरह की आर्थिक समस्याएं पैदा हो रही हैं। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैलकॉम टर्नबुल ने इस बारे में एक टास्क फोर्स बनाई है, जो भारत के अनुभवों की समीक्षा करेगी। वहां पर 100 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर की नोट को लेकर सबसे ज्यादा दिक्कत है। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने ये नोट काफी संख्या में छाप रखी है, लेकिन इन्हें लोगों ने ब्लैकमनी की शक्ल में अपनी तिजोरियों में रखा हुआ है। वैसे ऑस्ट्रेलिया सरकार ने कहा है कि वो भारत की तरह रातों-रात नोटबंदी नहीं करेंगे। इसके बजाय लोगों से कहा जाएगा कि वो धीरे-धीरे अपना कैश बैंकों में जमा करा दें। हालांकि इसकी आलोचना भी हो रही है क्योंकि काले धन वालों को अपनी रकम को सफेद बनाने का मौका मिल जाएगा।

नोटबंदी पर ऑस्ट्रेलियाई मीडिया की नज़र

ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में भारत में हुई नोटबंदी पर खास नजर देखी गई। वहां के तमाम बड़े अखबारों और चैनलों ने इस मुद्दे पर फोकस किया। यहां पर एटीएम की लाइनों में भीड़ और बैंकों में होने वाली दिक्कतों की तस्वीरें भी ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने बड़े चाव से दिखाई। दरअसल पिछले कुछ वक्त से यहां पर नोटबंदी पर विचार किया जा रहा था, लेकिन भारत के अनुभव के बाद ऑस्ट्रेलियाई सरकार अब इसके नतीजों को लेकर ज्यादा आश्वस्त दिख रही है।

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , ,