Home » Loose Top » अखिलेश को हीरो बनाने के लिए था झगड़े का नाटक
Loose Top

अखिलेश को हीरो बनाने के लिए था झगड़े का नाटक

मुलायम सिंह यादव परिवार का झगड़ा दरअसल अखिलेश यादव की इमेज चमकाने के लिए एक ड्रामा भर था। कई लोगों का ये शक सही होता दिख रहा है। समाजवादी पार्टी की इंटरनल स्ट्रैटेजी से जुड़ा एक ईमेल लीक हुआ है, जिससे इस पूरे ड्रामे की कहानी समझ में आ जाती है। ये ईमेल है समाजवादी पार्टी के अमेरिकी सलाहकार स्टीव जार्डिंग का। ये ईमेल जुलाई में भेजा गया था। इसके बाद मुलायम परिवार में जो कुछ भी चल रहा है वो इसके हिसाब से ही हो रहा है। इसमें दावा किया गया है कि समाजवादी पार्टी केवल नाटक कर रही है  और कुछ समय बाद अखिलेश यादव पार्टी के अध्यक्ष बन जाएंगे और मुलायम सिंह संरक्षक। इसके बाद शिवपाल यादव और अमर सिंह को पार्टी से निकाल दिया जाएगा।

अखिलेश की इमेज चमकाने की कोशिश

जार्डिंग के इस ईमेल में लिखा है कि “मुख्यमंत्री को विकास-पुरुष बनाने के लिए जरूरी है कि दिखाया जाए कि पार्टी के अंदर उनका काफी विरोध हो रहा है। इस झगड़े से वो एक विजेता के तौर पर बाहर आएंगे तो लोगों की सहानुभूति उनके लिए ज्यादा होगी। इससे अखिलेश की इमेज बेहतर उभर कर आएगी और वे मजबूत मुख्यमंत्री के तौर पर जाने जाएंगे।” इस रणनीति की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि पूरे कार्यकाल के दौरान बेटे को पिता मुलायम और चाचाओं के इशारे पर चलने वाली कठपुतली के तौर पर देखा जाता रहा है। पत्रकार राहुल कंवल ने इस बारे में एक ट्वीट करके उस ईमेल की तस्वीर भी जारी की है। इस ट्वीट ने समाजवादी पार्टी के पूरे गेमप्लान को उजागर करके रख दिया है।

कौन हैं स्‍टीव जार्डिंग?

  • मशहूर पॉलिटिकल स्ट्रैटजिस्ट और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर स्टीव जार्डिंग को समाजवादी पार्टी की इलेक्‍शन स्ट्रैटेजी तैयार करने के लिए हायर किया गया था।
  • लखनऊ में जार्डिंग ने मीडिया से बातचीत में बताया था, ‘पिछले कुछ दिनों से मैंने समाजवादी पार्टी के लिए काम शुरू किया है। अभी लोग राज्य सरकार के कामों को भी मोदी सरकार की ही मानते हैं। इस भ्रम को ही तोड़ना है।’

अखिलेश की नाकामी छिपाने की रणनीति

ये सारा ड्रामा इसलिए है ताकि यूपी में बीते 5 साल की नाकामी और मुलायम की खराब छवि को पीछे छोड़कर अखिलेश यादव को हीरो के तौर पर प्रोजेक्ट किया जा सके। ये जताने की कोशिश है कि अखिलेश यादव तो बहुत अच्छे हैं और उनको बेवजह परेशान किया जा रहा है। ईमेल के हिसाब से लोगों को ये संदेश देने की कोशिश है कि अखिलेश गुंडों के ख़िलाफ़ है। शिवपाल यादव के कारण अखिलेश को पार्टी से बाहर किया गया ताकि लोगों को अखिलेश पर पूरा यक़ीन हो जाए और वो उनको दोबारा मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट दें।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए:

OR

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Donate to Newsloose.com

न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए:

OR

Popular This Week

Don`t copy text!