केरल में बीजेपी नेता को परिवार समेत जला दिया!

फोटो सौजन्य: मातृभूमि

केरल में आरएसएस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर हमलों का सिलसिला जारी है। ताजा घटना पलक्कड जिले के कांजीकोड में हुई है, जहां सीपीएम के गुंडों ने एक बीजेपी कार्यकर्ता का घर जला दिया। हमले में चार लोग बुरी तरह झुलस गए हैं। ये घर बीजेपी के सक्रिय कार्यकर्ता और पंचायत के पूर्व सदस्य कन्नन का था। बताया जा रहा है कि लेफ्ट के गुंडे आए दिन कन्नन को उनके घर पर आकर धमकाया करते थे। बुधवार सुबह घर के सामने से गुजरते हुए उन लोगों ने बाहर खड़ी बाइक में आग लगा दी। बाइक की पेट्रोल टंकी फटने के कारण कुछ ही मिनट में आग ने घर को भी अपने चपेट में ले लिया। हैरत की बात है कि ज्यादातर सेकुलर मीडिया इसे गैस सिलेंडर फटने से हुआ हादसा बता रहे हैं। जबकि लोकल मीडिया ने साफ-साफ बताया है कि हमलावरों ने पूरे परिवार को घर में बंद करके बाहर से आग लगाई थी।

घर में जलाकर मारने की कोशिश

घटना के वक्त कन्नन अपने परिवार के साथ घर में थे। आग फैलकर बहुत जल्द ही किचन तक पहुंच गई और उसके चलते गैस के सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। इस हमले में कन्नन, उनकी पत्नी, भाई और एक बच्चा बुरी तरह झुलस गए। चश्मदीदों के मुताबिक हथियारबंद सीपीएम कार्यकर्ताओं तब तक घर के बाहर खड़े रहे जब तक आग ने पूरे घर को चपेट में नहीं ले लिया। कन्नन की पत्नी सबसे ज्यादा बुरी तरह झुलसी हैं और उनकी हालत बेहद नाजुक है। हमले में उनका घर पूरी तरह तबाह हो गया है।

हमलावरों को है पुलिस की शह

कन्नन के घर पर हमला करने वाले सीपीएम के गुंडों को पूरे इलाके में पहचाना जाता है। इसके बावजूद पुलिस ने उन्हें अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। पुलिस पूरे मामले को आपसी रंजिश का बताकर टालने की कोशिश कर रही है। दरअसल केरल में हिंदूवादी ताकतों पर हो रहे ज्यादातर हमलों में सीपीएम और कट्टरपंथी ताकतों की मिलीभगत रही है। इनके निशाने पर ज्यादातर दलित हिंदू होते हैं। पिछले दिनों एक दलित छात्रा जीशा से बलात्कार करके उसकी हत्या कर दी गई थी, तब भी सीपीएम सरकार की भूमिला बेहद संदिग्ध रही थी।

पढ़िए रिपोर्ट: केरल में एक दलित बेटी से दरिंदगी पर चुप्पी क्यों?


पढ़िए रिपोर्ट: इस दलित की हत्या पर सेकुलर ब्रिगेड जश्न मना रहा है!

सीएम पी विजयन के इशारे पर हत्याएं!

केरल में हो रही राजनीतिक हत्याओं के पीछे सीधे मुख्यमंत्री पी विजयन का हाथ होने के आरोप लगते रहे हैं। यहां तक कि विजयन ने अपने गांव में भी संघ और बीजेपी से जुड़े कई कार्यकर्ताओं की बर्बर तरीके से हत्या करवाई है। विजयन वही हैं जो मुख्यमंत्री बनने से पहले कहा करते थे कि संघ और बीजेपी के लोगों की हत्या करके उनकी लाश पर नमक डाल देना चाहिए ताकि कोई सबूत ही न बचे। ये देश का दुर्भाग्य है कि ऐसा बर्बर हत्यारा एक राज्य का मुख्यमंत्री बन चुका है और उसके खिलाफ दिल्ली का मीडिया कभी एक शब्द भी नहीं लिखता है। विजयन के सीएम बनने से पहले हमने उसके असली चेहरे के बारे में ये रिपोर्ट पोस्ट की थी।

पढ़िए रिपोर्ट: कहता था लाश पर नमक डाल दो, अब केरल का सीएम है!

केरल में आरएसएस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं की एक के बाद एक हत्याएं हो रही हैं। इसके बावजूद केंद्र अब तक केरल सरकार को सख्त मैसेज देने में नाकाम रहा है। मुश्किल यह है कि अगर केंद्र ने कोई सवाल उठाया तो दिल्ली में बैठा वामपंथी मीडिया हंगामा मचाना शुरू कर देगा। फिलहाल इस स्थिति में केरल के लोगों में गुस्सा बढ़ रहा है। सोशल मीडिया पर कई लोग इसे खुलकर जताने भी लगे हैं।

comments

Tags: , , , ,