Loose Top

महंतों पर छापा पड़ा है, मौलवी पर पड़े तो देखिएगा!

देश भर में इनकम टैक्स के छापे पड़ रहे हैं। हर पार्टी और तबके के काले कुबेरों के घरों में दबा खजाना निकाला जा रहा है। सोमवार को नासिक के मशहूर त्रयंबकेश्वर मंदिर के पंडितों का नंबर था। इस छापेमारी में भारी मात्रा में सोना और कैश बरामद किया गया है। इनकम टैक्स विभाग ने यहां 9 लोगों को नोटिस भी भेजा था। इनमें से दो के पास घोषित आय से ज्यादा सोना और नकदी पाई गई, जबकि आने वाले दिनों में कई पर छापा पड़ने के आसार जताए जा रहे हैं। सवाल ये है कि क्या किसी मौलाना या किसी पादरी पर ये छापा पड़ता तो क्या इतनी खामोशी होती? अब तक ये खबर पूरे देश की मीडिया में छा गई होती और इसे सीधे धार्मिक असहिष्णुता करार दिया गया होता।

हिंदू धर्म के नाम पर ठगी का धंधा!

नासिक के त्रयंबकेश्वर मंदिर के पुरोहित गणपति शिखरे और गणेश चांदवडकर के घरों और उनके नाम से रजिस्टर्ड फर्म पर इनकम टैक्स की टीमों ने सोमवार देर शाम छापा मारा। छापों के बाद इनकम टैक्स की जांच मंगलवार को भी देर तक जारी रही। ये दोनों वैसे तो त्रयंबकेश्वर मंदिर के पुजारी हैं, लेकिन उन्होंने अपने घर में काली कमाई का खजाना खोल रखा था। दोनों की कई होटल, लॉज, इंजीरियर डिजाइनिंग फर्म और बिल्डरों के साथ हिस्सेदारी का पता चला है। दरअसल आईटी डिपार्टमेंट ने मंदिर के 9 लोगों को नोटिस भेजा था और 8 नवंबर के बाद उनकी लेन-देन और बैंकों की डिटेल्स मंगाई थीं। इसी के आधार पर छापेमारी की कार्रवाई की गई।

ब्लैकमनी के कारोबार में कुछ पुजारी

त्रयंबकेश्वर मंदिर के कुछ पुजारियों पर काले धन के आरोप लगते रहे हैं। जिन दोनों के खिलाफ कार्रवाई की गई है वो बड़े-बड़े लोगों की पूजा करवाया करते थे और इसके बदले में मोटा दक्षिणा वसूला करते थे। इन दोनों के पास से जो जायदाद पाई गई है उसका इनके इनकम टैक्स रिटर्न में जिक्र तक नहीं है। छापे में इनके पास मिले सोने और नकदी का हिसाब अभी लगाया जा रहा है और जल्द ही इस बारे में औपचारिक जानकारी जारी की जाएगी।

मस्जिदों और चर्च में भी है काला धन

अक्सर ये बात सामने आती है कि मस्जिदों और चर्च जैसी दूसरी धार्मिक जगहों पर भी ब्लैकमनी का कारोबार है। ऐसे ही कई मौलाना और पादरी बिना कुछ किए करोड़पति की जिंदगी जी रहे हैं। कालेधन के खिलाफ अभियान में अगर इनमें से किसी का नंबर आया तो तय है कि दिल्ली की मीडिया आसमान सिर पर उठा लेगी। जबकि त्रयंबकेश्वर मंदिर के पुजारियों पर छापेमारी पर कहीं भी कोई चर्चा नहीं हो रही है। कुछ दिन पहले ही हमने रिपोर्ट दी थी कि कैसे यूपी का गुंडा मुख्तार अंसारी मस्जिदों के जरिए अपनी ब्लैकमनी को सफेद करवा रहा है।

संबंधित रिपोर्ट: मस्जिदों की मदद से नोट बदलवा रहा है मुख्तार अंसारी

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...