इस परिवार ने 108 करोड़ रुपये में बेच दिया था देश!

गांधी परिवार पर अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले का शिकंजा कसता जा रहा है। यह बात अब लगभग पक्की हो गई है कि 3600 करोड़ रुपये के इस रक्षा सौदे में दलाली ली गई थी। इंडिया टुडे चैनल ने बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की डायरी हासिल कर ली है और ये डायरी देश के ‘सबसे ताकतवर राजनीतिक परिवार’ के लिए गले की फांस बन सकती है। क्योंकि इसमें जिक्र है कि सौदे के एवज में एक परिवार को रिश्वत के तौर पर तकरीबन 108 करोड़ रुपये दिए गए। इस केस में पूर्व एयरचीफ मार्शल एसपी त्यागी गिरफ्तार हो चुके हैं। इसके बाद देखना है सोनिया का नंबर कब आता है। नेशनल हेराल्ड के बाद ये दूसरा घोटाला है, जिसमें सीधे सोनिया गांधी पर रिश्वत लेने का आरोप है।

इटली की कोर्ट से मिले दस्तावेज

दरअसल दलाली के इस मामले में इटली की कोर्ट फैसला सुना चुकी है और उसने मिसेज गांधी, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल और ऑस्कर फर्नांडिस को दोषी माना है। इटली की अदालती कार्यवाही में क्रिश्चियन मिशेल की डायरी ने बेहद अहम रोल निभाया था। इसे सीबीआई को इटली की अदालत ने हैंडओवर किया है। इस डायरी में जिक्र है कि कैसे भारत सरकार में हर चरण पर उसने अपने एजेंट फिट कर रखे थे। सौदे से जुड़ी किसी भी मीटिंग का उसे सबसे पहले पता चल जाता था।

‘मिसेज गांधी घोटाले की मास्टरमाइंड’

डायरी में लिखा गया है कि मिसेज गांधी इस पूरी डील की मेन ड्राइविंग फोर्स थीं। क्योंकि वो सेना के एमआई-8 हेलीकॉप्टरों में नहीं उड़ना चाहतीं। बाकी कंपनियों के ऑफर्स को तरह-तरह के बहाने बनाकर खारिज कर दिया गया। भारत के ‘राजनीतिक परिवार’ से लेकर एयरफोर्स के अफसरों और रक्षा सचिव से लेकर सीएजी और सीवीसी जैसे दफ्तरों में किए गए कुल भुगतान का जिक्र इस डायरी में है। सबसे ज्यादा 108 करोड़ रुपये ‘राजनीतिक परिवार’ ने लिए। 22 करोड़ के करीब ‘एपी’ ने लिए, जिनके लिए माना जाता है कि वो अहमद पटेल हैं।

सरकार से लेकर सेना तक को घूस

क्रिश्चियन मिशेल की डायरी में पेमेंट का पूरा हिसाब-किताब है। हर स्तर के नेताओं और अधिकारियों को खरीदने के लिए उसने 5.2 करोड़ यूरो का बजट रखा था। यहां तक कि केंद्रीय सतर्कता आयोग तक में लोग खरीदे गए। इसके मुताबिक एयरफोर्स के 4 टॉप अधिकारियों को कुल करीब 44 करोड़ रुपये दिए गए। उस वक्त के रक्षा मंत्री एके एंटनी के दफ्तर के कई अफसरों के नाम उनको दी गई घूस की रकम के साथ इस डायरी में दर्ज हैं। डायरी में मंत्रालय के कुल 6 अफसरों के नाम हैं और उन्हें सबको मिलाकर 60 करोड़ रुपये के करीब घूस दी गई। इस केस में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी जेल की हवा खा रहे हैं। इसके बाद अफसरों के नंबर और फिर नेताओं का नंबर आएगा। कुल मिलाकर ये देश में संगठित किस्म की सरकारी लूट का सबसे बड़ा उदाहण बन चुका है।

comments

Tags: , , , ,