Loose Top

राहुल, सोनिया के चलते कांग्रेस नेता की जान गई!

ग्वालियर में पिछले सोमवार को हुए भारत बंद में एक कांग्रेस कार्यकर्ता की मौत का मामला तूल पकड़ रहा है। यहां नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान शहर कांग्रेस के अध्यक्ष दर्शन सिंह की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। प्रदर्शन के दौरान दर्शन सिंह के सीने में दर्द उठा और वो वहीं पर गिर गए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें करीब के अस्पताल में पहुंचाया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। इस घटना को लेकर कांग्रेस के बड़े नेताओं और हाईकमान पर सवाल उठ रहे हैं कि नोटबंदी के खिलाफ उनकी जिद की कीमत एक कांग्रेसी कार्यकर्ता को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।

प्रदर्शन में जबरन लाए गए थे दर्शन सिंह!

ग्वालियर में हुए उस धरना-प्रदर्शन में शामिल एक कांग्रेसी कार्यकर्ता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि दर्शन सिंह की तबीयत कुछ वक्त से खराब थी। सुबह प्रदर्शन के पहले भी उन्होंने बेचैनी की शिकायत की थी। लेकिन कांग्रेस हाईकमान की तरफ से जनआक्रोश रैली और भारत बंद को सफल बनाने का इतना दबाव था कि वो बीमार होने के बावजूद प्रदर्शन में शामिल हुए। हालांकि बाद में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य के नेताओं का तांता लग गया। ग्वालियर से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनके शव को कंधा भी दिया। लेकिन यह बात कहीं न कहीं होती रही कि बीमार होने के बावजूद ऐसा क्या हुआ कि उन्हें प्रदर्शन का नेतृत्व करने के लिए आना पड़ा।

सोनिया, राहुल गांधी पर मौत का जिम्मा?

सवाल यह है कि अगर एटीएम की लाइन में खड़े किसी व्यक्ति की हार्ट अटैक से मौत होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहाराया जा सकता है तो अब कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता इस मौत की जिम्मेदारी क्यों नहीं ले रहे हैं? यह बात तय है कि भारत बंद को कामयाब बनाने के लिए कांग्रेस हाईकमान की तरफ से कार्यकर्ताओं पर काफी दबाव था। हालत यहां तक थी कि एक बीमार प्रदेश अध्यक्ष को भी इसके लिए सड़कों पर उतरना पड़ा, जिसका नतीजा इस दुखद घटना के तौर पर सामने आया है।

सोशल मीडिया पर लोग इस घटना को लेकर कांग्रेस हाईकमान पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!