जब बैंक लुटेरे को केजरीवाल ने दी श्रद्धांजलि!

नोटबंदी की चोट खाए अरविंद केजरीवाल ने किस तरह से बीते 8-10 दिन में झूठ फैलाए इसकी मिसालें धीरे-धीरे सामने आने लगी हैं। अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट किया था, जिसके मुताबिक मध्य प्रदेश के सतना में एक युवक ने बैंक के अंदर फांसी लगा ली क्योंकि उसे 3-4 दिन से पैसे नहीं मिल रहे थे और वो बहुत परेशान था। केजरीवाल ने इस ट्वीट में पीएम मोदी को जमकर कोसा था। यही नहीं अरविंद केजरीवाल ने लोगों की मौत पर जमकर झूठ फैलाया। देखिए यह ट्वीट:

2

लेकिन इस खबर की सच्चाई कुछ और ही है। केजरीवाल ने बिना जांच-पड़ताल के जिस मौत को नोटबंदी से जोड़ दिया उसकी असली कहानी कुछ और ही है। जिस शख्स को दिल्ली का मुख्यमंत्री ‘गरीब जनता’ बता रहा था वो दरअसल एक चोर था और पुलिस के डर से वो बैंक के अंदर बंद हो गया था। पकड़े जाने पर बदनामी के डर से उसने बैंक के अंदर ही खुदकुशी कर ली। स्थानीय लोगों, चश्मदीदों और पुलिस ने इस खबर की पुष्टि की है। चोर की पहचान भी कर ली गई है और वो पहले भी कई बार इस तरह की कोशिश कर चुका था। जब लोगों को बताया गया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उस चोर के समर्थन में ट्वीट किया है तो लोगों के आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा। लोकल अखबारों ने सही खबर छापी है।

3

चोर-उचक्कों का समर्थन करते हैं केजरीवाल!

यह बात सामने आई है कि अरविंदकेजरीवाल ज्यादातर ऐसे लोगों का समर्थन करते हैं जो अपराधी या चोर-उचक्के हों। पिछले दिनों भिवानी के जिस पूर्व-सैनिक राम किशन ग्रेवाल को उन्होंने शहीद घोषित करके उसके परिवार को 1 करोड़ रुपये देने का एलान कर डाला था, बाद में जांच में पता चला था कि वो दरअसल एक जालसाज था और उसने कई पूर्व सैनिकों से लाखों रुपये ठगे थे। जब पैसा वापस करने के लिए दबाव बढ़ने लगा तो उसने वन रैंक, वन पेंशन का बहाना लेकर जान दे दी। न्यूज़लूज़ पर हमारी इस खबर को आप नीचे क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

पढ़ें: केजरीवाल का ‘शहीद’ पूर्व सैनिक जालसाज निकला!

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,