जानिए क्यों पाकिस्तान की बोली बोल रहे हैं केजरीवाल!

सांकेतिक तस्वीर

पिछले कुछ वक्त से मीडिया की नज़रों से बाहर चल रहे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ऐसा दांव चला कि वो भारत के साथ-साथ पाकिस्तान की मीडिया में भी छा गए। सोमवार को केजरीवाल ने एक वीडियो जारी करके पीएम नरेंद्र मोदी से अपील की कि वो इस बात का सबूत दिखाएं कि भारत ने वाकई पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में कोई फौजी कार्रवाई की है। केजरीवाल ने इस वीडियो की शुरुआत में पीएम मोदी को उनकी दृढ़ इच्छाशक्ति के लिए सैल्यूट भी किया। मीडिया ने ज्यादातर यही हिस्सा दिखाया कि केजरीवाल ने पीएम मोदी की तारीफ की, लेकिन इस वीडियो के पीछे की कहानी जानकर आप चौंक जाएंगे। दरअसल पाकिस्तान भी यही चाहता है कि भारत सर्जिकल ऑपरेशन का वीडियो जारी करे। केजरीवाल ने इस वीडियो के जरिए पाकिस्तान की वो मांग दोहराई और साथ ही साथ फौजी कार्रवाई के भारत के दावे पर ही सवाल खड़े कर दिए।

चंदे के चक्कर में पाकिस्तान का समर्थन!

आम आदमी पार्टी के एक बड़े नेता ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर हमें केजरीवाल के इस रुख का असली कारण बताया। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा था कि “पाकिस्तान नहीं, बल्कि भारत ही दुनिया में अलग-थलग होता जा रहा है”, इसके बाद पार्टी को ‘जबरदस्त रिस्पॉन्स’ मिला। ऑनलाइन डोनेशन के जरिए विदेशों से आने वाली रकम में अचानक कई गुना का उछाल देखा गया। इसमें से ज्यादातर रकम खाड़ी देशों, पाकिस्तान या अमेरिका और यूरोप में बसे पाकिस्तानी नागरिकों के खाते से आ रही है। पंजाब और गोवा चुनाव को देखते हुए आम आदमी पार्टी को ज्यादा फंड की जरूरत है। इसी वजह से केजरीवाल ने अब वीडियो टेप जारी करके वह बात कही जो पाकिस्तान भी चाहता है। नतीजा ये हुआ कि केजरीवाल पाकिस्तानी मीडिया में छा गए। पाकिस्तानी अखबारों ने केजरीवाल के बयान को भारत के खिलाफ सबूत के तौर पर पेश किया है।

केजरीवाल की इस गद्दारी का अहसास पाकिस्तान के लोगों को भी अच्छी तरह है। पाक मीडिया के अलावा आम पाकिस्तानियों ने भी सोशल मीडिया पर जमकर केजरीवाल की तारीफों के पुल बांधे। हालांकि पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने लिख दिया कि “केजरीवाल के बयान को ही कहते हैं कि घर को आग लग गई घर के चिराग से।”

mehar-tarar

केजरीवाल को पाकिस्तानी मीडिया के इस रिस्पॉन्स का अच्छी तरह अंदाजा था। उन्हें यह भी पता था कि खबर फैलने के बाद दुनिया भर के पाकिस्तानी उनकी पार्टी के लिए अपनी झोली खोल देंगे। चोरी पकड़ी न जाए इसके लिए केजरीवाल ने पहले से ही इंतजाम कर लिए हैं।

डोनेशन ट्रेंड्स की वेबसाइट बंद करवाई!

पंजाब चुनाव से पहले केजरीवाल ने खालिस्तानी और दूसरी भारत विरोधी ताकतों के साथ एक तरह का ‘गठजोड़’ किया है। परदे के पीछे से ये संगठन आम आदमी पार्टी को भारी आर्थिक मदद को तैयार हैं। हमारे सूत्र ने बताया कि “पंजाब चुनाव को देखते हुए पार्टी को अच्छी तरह एहसास है कि सिर्फ आम लोगों के चंदे से काम नहीं चलेगा। लिहाजा सबसे पहले जुलाई में ही पार्टी की डोनेशन वेबसाइट बंद कर दी गई।” आप का औपचारिक तौर पर कहना है कि वेबसाइट का मेंटेनेंस चल रहा है, लेकिन सवाल यह है कि क्या यह मेंटेनेंस 3 महीने से चल रहा है? वेबसाइट अपडेट न होने की वजह से चंदे में आ रही रकम का हिसाब-किताब सार्वजनिक नहीं हो रहा है। हमारे सूत्र ने बताया कि पार्टी के अकाउंट्स डिपार्टमेंट को यह पता रहता है कि पैसे कहां से और किसके अकाउंट से आ रहे हैं। कई बार जिन लोगों के नाम से पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं वो दरअसल सिर्फ मुखौटा होते हैं, ताकि पीछे के चेहरे की पहचान छिपी रहे। आरोप यह भी लगाया जाता है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ऐसे कई सामान्य लोगों के खातों के जरिए आम आदमी पार्टी के फंड में पैसे पहुंचा रही है। केजरीवाल जब भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोई गाली देते हैं चंदे की आवक बढ़ जाती है। आरोप तो यहां तक लगते हैं कि आम आदमी पार्टी को होने वाली फंडिंग में बड़ा हिस्सा हाफिज सईद और दाऊद इब्राहिम का है।

आप को खूब चंदा देते हैं पाक नागरिक!

एक सवाल अक्सर उठता रहता है कि आखिर क्या कारण है कि दुनिया भर में फैले पाकिस्तानी नागरिकों को भारत में केजरीवाल के तथाकथित भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन में इतनी रुचि है? इस सवाल को काफी समय से लोग सोशल मीडिया और अलग-अलग मंचों पर उठाते रहे हैं। केजरीवाल का ताजा रुख इन तमाम आरोपों और दावों पर मुहर ही लगा रहा है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,