क्या आपको भी केजरीवाल का क्लीन चिट चाहिए ;-)

17 करोड़ के हवाला कांड में फंसे अपने मंत्री सत्येंद्र जैन को क्लीन चिट देने में अरविंद केजरीवाल ने 17 मिनट भी नहीं लगाया। लेकिन राशन कार्ड वाले संदीप कुमार की सेक्स सीडी को लेकर वो 17 दिन तक रिवांड कर-करके देखते रहे… कुछ इस अंदाज में सोशल मीडिया पर अरविंद केजरीवाल के क्लीन चिट की खिल्ली उड़ रही है। दिल्ली में सड़कों पर केजरीवाल के कैरेक्टर सर्टिफिकेट के बड़े-बड़े होर्डिंग लगाए गए हैं। इनमें बताया गया है कि कैसे अपने हर चरित्रहीन और भ्रष्टाचारी को अरविंद केजरीवाल क्लीन चिट थमा देते हैं। एक बार केजरीवाल का क्लीन चिट मिल गया तो फिर वो भ्रष्टाचारी या बलात्कारी भगवान की अदालत में भी बेकसूर माना जाता है।

img_20160928_170016

किन-किन किस्मतवालों को मिली क्लीन चिट?

सोशल मीडिया पर भले ही केजरीवाल के क्लीन चिटों की डिमांड की जा रही हो, लेकिन सच्चाई यही है कि कुछ किस्मत वालों को ही यह क्लीन चिट मिलती है। आइए देखते हैं कौन-कौन से वो महानुभाव हैं जो अब तक खुशनसीब रहे हैं।

  • केजरीवाल ने तत्कालीन गृह मंत्री पर जूता फेंकने वाले पत्रकार जरनैल सिंह को क्लीन चिट देकर विधायक बनवा दिया।
  • पत्नी को कुत्ते से कटवाने के आरोपी विधायक सोमनाथ भारती को भी क्लीन चिट दी थी।
  • फर्जी डिग्री वाले कानून मंत्री जीतेंद्र सिंह तोमर को भी क्लीन चिट दी थी। बाद में पोल खुली तो बोल दिया कि मेरे साथ धोखा हुआ है।
  • घोटालेबाज मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार को भी क्लीन चिट दी थी। उन पर पड़े छापे को खुद पर छापा बताया। बाद में आरोपों में दम पाया गया।
  • आप कार्यकर्ता सोनी की आत्महत्या के मामले में अपने विधायक शरद चौहान को क्लीन चिट दी और पीड़िता से कहा कि ‘कॉम्प्रोमाइज कर लो।’
  • राशन कार्ड के बदले महिला का यौन शोषण करने वाले मंत्री संदीप कुमार को भी केजरीवाल ने पहली नज़र में क्लीन चिट दी थी।
  • अपने ही घर की महिला पर सेक्स के लिए दबाव बनाने वाले अमानतुल्ला खान के पास भी केजरीवाल की दी 2 क्लीन चिट्स हैं। इससे पहले उन पर एक मुस्लिम महिला डॉक्टर ने भी छेड़खानी का आरोप लगाया था।
  • केजरीवाल का क्लीन चिट पाने वाला सबसे नया चेहरा सत्येंद्र जैन का है।

देखिए केजरीवाल से क्लीन चिट की उम्मीदें लगाए कुछ सामान्य लोगों के सोशल मीडिया अपडेट्स।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,