राहुल गांधी की ‘खाट सभा’ में 40 लाख का घोटाला!

यूपी के देवरिया में राहुल गांधी की खाट सभा में मची लूट के बीच घोटाले के आरोप भी लग रहे हैं। पता चला है कि सभा के लिए जिस कीमत पर खाटों को खरीदा गया उतने में तो पलंग भी आ जाती है। सभा के लिए एक चारपाई औसतन 3000 रुपये की खरीदी गई है। जबकि गांवों और छोटे शहरों में इसकी कीमत ज्यादा से ज्यादा 800 से 1000 रुपये के बीच होती है। देवरिया में राहुल गांधी की पहली खाट सभा के आयोजन से जुड़े कांग्रेस नेताओं के बीच यह चर्चा जोरों पर है। हालांकि कोई खुलकर कुछ भी कहने से बच रहा है। खाट सभा के लिए कांग्रेस पार्टी ने लोगों को 500 से 1000 रुपये देकर बुलाया था, इन लोगों को एक टाइम के खाने का भी वादा किया गया था।

करीब 40 लाख रुपये का खाट घोटाला!

राहुल गांधी की सभा के लिए कुल 2000 खाट खरीदी गई थीं। ऐसी खाट अब टेंट हाउसों में नहीं मिलतीं। देवरिया, कुशीनगर और आसपास के जिलों में पता किया गया तो ज्यादा से ज्यादा 200 से 250 खाटों का ही इंतजाम हो पा रहा था। ऐसे में आयोजकों ने बिहार, लखनऊ, पश्चिमी यूपी के शहरों और यहां तक कि दिल्ली के कुछ चारपाई बनाने वालों को ऑर्डर दिए थे। देखा जाए तो थोक ऑर्डर होने के नाते दाम कम होने चाहिए, लेकिन हुआ इसके उलट। देवरिया के ही एक कांग्रेसी पदाधिकारी ने हमें बताया कि आयोजन से जुड़े राज्य समिति के नेताओं ने कुछ न कुछ गबन जरूर किया है। क्योंकि अगर ढुलाई भी जोड़ दें तो एक खाट के 3000 रुपये ज्यादा हैं। दिल्ली से गईं खाटें तो 5000 रुपये तक की थीं।  अगर हम इनकी असली कीमत 1000 रुपये मान लें तो हर खटिया  पर 2000 रुपये ज्यादा खर्च किए गए। इस तरह 2000 खाटों पर कुल 40 लाख रुपये अधिक कीमत बैठती है।  मतलब यह कि अगर आरोपों में दम है तो आयोजन समिति से जुड़े कांग्रेसी नेताओं ने एक झटके में तकरीबन 40 लाख रुपये  कमा लिए।

राहुल की खाट सभा में आए कई लोग अपने साथ बाइक पर खाटें ले गए।

राहुल की खाट सभा में आए कई लोग अपने साथ बाइक पर खाटें ले गए।

ज्यादातर खाट की क्वालिटी बेहद खराब

भले ही राहुल की सभा खत्म होते ही खटिया के लिए लूट मच गई, लेकिन कई लोग शिकायत कर रहे हैं कि इनमें जरा भी मजबूती नहीं हैं। ज्यादातर में बुनाई के लिए मूंज की रस्सी के बजाय पॉलीथिन से बनी रंगीन रस्सियों या नायलन की पट्टियों का इस्तेमाल किया गया है। ऐसी खाट पर बैठना आरामदेह नहीं होता। इसके अलावा खाटों की बुनाई भी काफी खराब है। कई खाटें तो राहुल की सभा के दौरान ही टूट भी गईं। एक मजबूत खाट 4-5 लोगों का वजन आसानी से झेल सकती है, लेकिन सभा के लिए खरीदी गईं ज्यादातर खाट 2-3 लोगों के बैठते ही चरमराने लगीं।

CrqD6fSWAAAGt1d

राहुल गांधी की खाट सभा के दौरान ही कई चारपाई लोगों का बोझ नहीं सह पाईं और टूट गईं।

फिलहाल कांग्रेस की खाट सभा में मची लूट पर सोशल मीडिया पर खूब चुटकुलेबाजी हो रही है। लोगों ने इस कॉन्सेप्ट और इसे शुरू करने के लिए राहुल गांधी और प्रशांत किशोर की जमकर खिल्ली उड़ा रहे हैं।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,