Loose Top Loose World Viral Videos

दुनिया की सबसे बड़ी लैब में नटराज के आगे नरबलि!

स्विट्जरलैंड के जिनीवा में यूरोपीय परमाणु रिसर्च संगठन यानी सर्न (CERN) की लैब में नरबलि के एक वीडियो पर दुनिया भर में हंगामा मचा हुआ है। मोबाइल फोन से बनाए गए इस वीडियो में नटराज की एक प्रतिमा दिखाई दे रही है, जिसके आगे काले कपड़े पहने 6-7 लोग एक व्यक्ति की बलि दे रहे हैं। जिसकी बलि दी जा रही है वो शायद कोई महिला है। नटराज की प्रतिमा के आगे बलिवेदी पर लेटते तक उसका वीडियो साफ देखा जा सकता है। लबादा ओढ़े लोगों में से एक अपने हाथ में चाकू लिए हुए है और उससे वो उस महिला की गर्दन रेत देता है। वीडियो की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। चिंता की बात यह है कि जहां पर यह वीडियो फिल्माया गया है वो लैब के हाई सिक्योरिटी ज़ोन में आता है।

हाई सिक्योरिटी लैब में कोई नाटक क्यों करेगा?

लैब के सुरक्षा अधिकारियों ने इस वीडियो में दिखाई जा रही जगह को सही माना है, हालांकि उन्हें शक है कि वाकई में बलि दी गई होगी। एक प्रवक्ता ने कहा कि हो सकता है कि किसी ने ये सब नाटक किया हो। लेकिन यह सवाल भी उठ रहे हैं कि आधी रात के वक्त इतनी हाई सिक्योरिटी लैब में कोई नाटक करने के लिए क्यों आएगा? सर्न लैब में 24 घंटे और 365 दिन शिफ्टों में काम होता है। जिस जगह पर यह घटना हुई है वो सीसीटीवी कैमरों के दायरे में आती है। अगर कोई वहां पर मज़ाक भी कर रहा था तो आखिर सिक्योरिटी अधिकारियों की उन पर नज़र क्यों नहीं पड़ी? नीचे लिंक पर क्लिक करके आप भी यह वीडियो देख सकते हैं। ऐसा लग रहा है कि किसी ने चुपके से अपने मोबाइल फोन से इसे बनाया है।

भारत सरकार ने ही भेंट की है ये नटराज प्रतिमा

cernजिनीवा की इस लैब में 100 से अधिक देशों के साइंटिस्ट काम करते हैं। इनमें बड़ी तादाद में भारतीय वैज्ञानिक भी शामिल हैं। यहां उस गॉड पार्टिकल को ढूंढने की कोशिश की जा रही है जिसके बारे में यह कहते हैं कि वो सृष्टि का आधार है। कहा जाता है कि यही वो तत्व है जिसे लोग आम बोलचाल में भगवान कहते हैं। भारत के वैज्ञानिक भी इस वीडियो के बाद से सकते में हैं, क्योंकि इसमें भगवान शिव के नटराज रूप की विशाल प्रतिमा दिखाई दे रही है। इस प्रतिमा में भगवान शिव तांडव कर रहे हैं। भारत सरकार ने करीब एक दशक पहले इस लैब को ये पांच मीटर ऊंची मूर्ति भेंट की थी।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...