Loose Top Loose World Viral Videos

यह वीडियो देखकर देशद्रोहियों का कलेजा फट जाएगा!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब से बलूचिस्तान में मानवाधिकार का मुद्दा छेड़ा है, भारत में पाकिस्तान-प्रेमी लॉबी ने हाय-तौबा मचा रखी है। जिन लोगों को कश्मीर में पाकिस्तानी दखलंदाजी में कोई बुराई नज़र नहीं आती, वो बलूचिस्तान मामले के जिक्र भर से बौखलाए हुए हैं। अखबारों में लंबे-लंबे संपादकीय लिखे जा रहे हैं और समझाया जा रहा है कि कैसे बलूचिस्तान का नाम लेकर मोदी ने ‘ऐतिहासिक भूल’ कर दी है। इस सारे हंगामे के बीच बलूचिस्तान का एक वीडियो आज सामने आया है, जिसमें वहां के स्वतंत्रता सेनानी बलोच झंडे के साथ-साथ भारत का तिरंगा भी थामे हुए हैं। एक प्रदर्शनकारी के हाथों में पीएम मोदी की तस्वीर भी देखी जा सकती है। वीडियो जारी करने वाली न्यूज एजेंसी एएनआई ने इस वीडियो को बुधवार का बताया है।

मोदी के बयान से बढ़ा लोगों का हौसला

बलूचिस्तान पर पीएम मोदी के बयान के बाद से बलूचिस्तान की आजादी की लड़ाई में एक नई जान आ गई है। बलूचिस्तान के तमाम इलाकों में पिछले 4 दिन से धरनों और विरोध-प्रदर्शनों का दौर चल रहा है। सुई, डेरा बुगती, जाफराबाद और नसीराबाद में सबसे ज्यादा विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। यह पहली बार है जब बलोच लोगों ने अपने प्रदर्शनों में खुलकर भारतीय झंडे भी भी लहराए हैं। कई जगहों पर लोगों के हाथों में बलूचिस्तान की आजादी की लड़ाई के सबसे बड़े नेता अकबर बुगती के साथ-साथ प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरें भी देखी जा सकती हैं।

पीएम के बयान से घबराया पाकिस्तान

15 अगस्त के दिन लालकिले से मोदी के भाषण के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट साफ देखी जा सकती है। पहली बार पाकिस्तान सरकार ने विदेशों में बसे बलोच नेताओं को बातचीत का न्यौता दिया है। इसके अलावा अब वो बलोच आंदोलनकारियों के प्रदर्शनों से ज्यादा सख्ती करने से डर रहे हैं, क्योंकि अगर ऐसा किया तो मामला फौरन अंतरराष्ट्रीय मंचों तक पहुंच जाएगा। पाकिस्तान को पहली बार यह खौफ सताने लगा है कि अगर भारत ने सचमुच चाह लिया तो बलूचिस्तान को उससे अलग होने से कोई रोक नहीं सकता।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...