मोदी पर आरोप के पीछे ये है केजरीवाल की रणनीति!

अरविंद केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी सरकार पर अपनी और अपने विधायकों की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है। लेकिन उनके आरोप के पीछे एक सोची-समझी रणनीति है। आम आदमी पार्टी की कोर टीम के एक सूत्र ने हमें इस बारे में पूरी जानकारी दी है। उनके मुताबिक केजरीवाल ने यह आरोप पार्टी के अंदर आ रहे बिखराव को रोकने के लिए लगाया है। AAP के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और विधायकों के बीच आपसी रंजिश इस समय चरम पर है। कुछ कार्यकर्ताओं ने तो विधायकों तक पर हत्या की साजिश के आरोप लगाए हैं। आए दिन ऐसी शिकायतें केजरीवाल तक भी पहुंचती हैं। केजरीवाल को शक है कि अगर ऐसा कुछ होता है तो पार्टी की फजीहत हो सकती है। लिहाजा उन्होंने समय रहते बॉल का रुख़ दूसरी तरफ घुमा दिया।

AAP में टकराव से ध्यान बंटाने की कोशिश!

केजरीवाल ने प्रधानमंत्री पर आरोप फौरी उपाय के तौर पर किया है। हालांकि इस एक तीर से उन्होंने दो निशाने साध लिए हैं। पहला ये कि ऐसा करके वो कुछ समय तक अपने कार्यकर्ताओं के बीच आपसी रंजिश पर पर्दा डाल सकेंगे और दूसरा इसके जरिए केजरीवाल साबित कर सकेंगे कि आपराधिक मामलों में आप नेताओं की एक के बाद एक गिरफ्तारी के पीछे बदले की राजनीति है। आम आदमी पार्टी में आंदोलन के दिनों से जुड़े ऐसे हजारों वॉलेंटियर हैं जिन्हें लगता है कि सत्ता में आने के बाद उन्हें नजरंदाज किया जा रहा है। यहां तक कि पार्टी के विधायक और मंत्री भी उनकी बात नहीं सुनते।

FIR कराने वाले ज्यादातर AAP समर्थक!

पिछले कुछ दिनों में आम आदमी पार्टी के जिन विधायकों या मंत्रियों पर छेड़खानी, मारपीट या ऐसे दूसरे आरोप लगाए गए हैं उनमें से ज्यादातर में FIR करवाने वाले कभी पार्टी के ही समर्थक थे।

  • दिल्ली के संगम विहार में विधायक दिनेश मोहनिया पर जिस महिला ने छेड़खानी का आरोप लगाया था वो कभी केजरीवाल के आंदोलन में शामिल हुआ करती थी।
  • देवली से विधायक प्रकाश जारवाल पर आरोप लगाने वाली महिला भी कभी उन्हीं के लिए काम करती थी।
  • मालवीयनगर के विधायक सोमनाथ भारती पर छेड़खानी का आरोप लगाने वाली महिला भी कभी आम आदमी पार्टी के आंदोलनों का हिस्सा हुआ करती थी।
  • ओखला से विधायक अमानतुल्ला खान पर जिस मुस्लिम महिला डॉक्टर ने छेड़खानी का आरोप लगाया है वो कभी आम आदमी पार्टी के धरने-प्रदर्शनों में हिस्सा लिया करती थी।
  • सुसाइड करने वाली सोनी मिश्रा और आरोपी रमेश भारद्वाज, दोनों ही आम आदमी पार्टी के एक्टिव मेंबर रहे थे।
  • जनकपुरी में खुदकुशी की कोशिश करने वाली लड़की ने अपने सुसाइड नोट में पार्टी के विधायक राजेश ऋषि का नाम लिखा है।
  • कुमार विश्वास पर अब तक 2 लड़कियों ने अलग-अलग आरोप लगाए हैं, दोनों ही केजरीवाल की पार्टी की वॉलेंटियर हैं।
  • कुछ दिन पहले केजरीवाल के दफ्तर में जाकर एक महिला वॉलेंटियर ने शिकायत दर्ज करवाई, जिसमें उसने केजरीवाल के करीबी बड़े नेता पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। यह मामला बड़ी मुश्किल से रफा-दफा करवाया गया है।

सोच-समझकर की हमले की तैयारी

पार्टी के अंदरूनी हालात को देखते हुए केजरीवाल ने वक्त रहते खतरा भांप लिया। आरोप के बारे में उन्होंने पार्टी में अपने 5-6 सबसे भरोसेमंद नेताओं से बातचीत भी की। पहले यह तय हुआ था कि केजरीवाल ट्वीट करके कहेंगे कि उन्हें और उनके विधायकों की जान को पीएम मोदी से खतरा है, लेकिन कुछ साथियों का सुझाव था कि ट्विटर पर पूरी तरह मैसेज देना संभव नहीं है। इसलिए यह तय हुआ कि केजरीवाल अपने रिकॉर्डेड वीडियो मैसेज के जरिए लोगों को समझाएंगे कि देश के प्रधानमंत्री पर इतना गंभीर आरोप लगाने की वजह क्या है। यही वजह है कि वीडियो में केजरीवाल ने ज्यादातर वक्त यह सफाई देने में बिताई है कि उन्हें क्यों लगता है कि प्रधानमंत्री उनकी या उनके हत्या करवाना चाहते हैं।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,

Don`t copy text!