Loose Top

मायावती जी, दयाशंकर की बेटी को इंसाफ कौन दिलाएगा?

अपने खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने वाले बीजेपी नेता को तो मायावती ने पार्टी से निकलवा दिया, लेकिन उस बच्ची का क्या होगा जिसे पता भी नहीं है कि उसे क्यों गालियां दी जा रही हैं। बीजेपी से निकाले गए नेता दयाशंकर सिंह की एक छोटी बेटी है। बीते दो दिन से पूरे यूपी में चल रहे धरने प्रदर्शनों में उनकी बेटी को गालियां दी जा रही हैं। ऐसा नहीं है कि ये गालियां सिर्फ बीएसपी के कार्यकर्ता दे रहे हैं, खुद मायावती ने लोकसभा में अपने भाषण में दयाशंकर की ‘बहन’ और ‘बेटी’ जैसे शब्द उछाले थे। सवाल यह है कि महिला के आत्मसम्मान के नाम पर मायावती को यह छूट किसने दे दी कि वो दो ऐसे लोगों पर पर भद्दी टिप्पणियां करें जिनका इस विवाद से कोई वास्ता तक नहीं।

“मायावती जी बताएं अपनी बेटी को कहां पर पेश करूं?” दयाशंकर की पत्नी ने पूछा सवाल

सदमे में चली गई है मासूम बच्ची

न्यूज एजेंसी एएनएआई से बातचीत में दयाशंकर की पत्नी स्वाति ने बीते दो दिन में परिवार पर जो कुछ गुजरी है वो मीडिया को बताया। उनकी छोटी बेटी ने सारे हंगामे को टीवी पर देख लिया। जिसके बाद वो बेहद डर गई है। बच्ची इस हद तक डर गई कि वो घर में कांप रही थी। डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची को सदमा लगा है और उसे नींद का इंजेक्शन देकर सुलाया गया है। लखनऊ में बीएसपी के प्रदर्शन के दौरान दयाशंकर सिंह को ही नहीं, बल्कि उनकी बच्ची को भी गालियां बकी गई थीं। स्वाति ने लोकसभा में मायावती के बयान और प्रदर्शनों के दौरान लगाए गए भद्दे नारों के लिए भी एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग की है और पूछा है कि वो बताएं कि मुझे अपनी बेटी को कहां पेश करना है?

bsp_supporters_protest2

अगर दयाशंकर को उनके बयान के लिए न सिर्फ बीजेपी से निकाल दिया गया, बल्कि सामाजिक तिरस्कार झेलना पड़ रहा है, तो उसी पैमाने पर आखिर बीएसपी के इन छुटभैये कार्यकर्ताओं को क्यों छूट मिली हुई है? एक ने तो दयाशंकर की जुबान काटकर लाने वाले को 50 लाख रुपये की सुपारी तक दे डाली।

उधर बीएसपी की विधायक ऊषा चौधरी ने तो बेशर्मी की सारी हदें पार कर दीं। उन्होंने दयाशंकर सिंह को नाजायज औलाद की गाली दी और कहां कि उनका तो डीएनए ही खराब है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!