पंजाब में आम आदमी पार्टी को तोड़ेंगे भगवंत मान?

पंजाब में आम आदमी पार्टी एक और टूट की तरफ बढ़ रही है। बहुत संभव है कि चुनाव से पहले पार्टी के दो टुकड़े हो जाएं। नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर जहां एक तरफ दिल्ली में पार्टी के नेता बेहद खुश नज़र आ रहे हैं, वहीं पंजाब यूनिट के नेताओं में खलबली मची हुई है। अब तक यह माना जा रहा था कि अगर केजरीवाल की पार्टी पंजाब में जीती तो सांसद भगवंत मान के मुख्यमंत्री पद के सबसे मजबूत दावेदार होंगे। लेकिन सिद्धू की एंट्री के साथ समीकरण बदल गए हैं। इससे मान के समर्थकों में भारी नाराजगी है।

भगवंत मान के चेहरे पर सदमा!

एनडीटीवी की बरखा दत्त से बातचीत में भगवंत मान थोड़े उलझे-उलझे नज़र आए। उन्होंने सीएम पद के दावेदार के बारे में पूछे गए सभी सवालों को टाल दिया। यहां तक कि वो बार-बार यह तर्क भी देते रहे कि पार्टी में कार्यकर्ता नीचे से ऊपर जाते हैं। जाहिर है उनका मतलब यह था कि नवजोत सिद्धू आते ही मुख्यमंत्री पद के लिए क्वालीफाई नहीं करते। वैसे भगवंत मान के साथ दिक्कत यह है कि उनकी इमेज शराबी की है। केजरीवाल के लिए दिक्कत यह है कि नशाखोरी के मुद्दे पर चुनाव लड़ने के बाद वो एक शराबी को कैसे सीएम के तौर पर प्रोजेक्ट करेंगे। फिलहाल नीचे लिंक पर क्लिक करके आप ये पूरा इंटरव्यू देख सकते हैं।

सांसद धर्मवीर गांधी भी विरोध करेंगे

पटियाला से आम आदमी पार्टी के सांसद धर्मवीर गांधी ने भी सिद्धू की एंट्री पर एतराज जताया है। उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू को पार्टी में लिया जाएगा तो वो इसका विरोध करेंगे। धर्मवीर को प्रशांत भूषण से करीबी की वजह से अरविंद केजरीवाल ने फिलहाल पार्टी से सस्पेंड कर रखा है। नीचे लिंक पर क्लिक करके सुनिए धर्मवीर गांधी का वो पुराना बयान जिसमें उन्होंने सिद्धू का विरोध करने की बात कही है। पंजाब में आम आदमी पार्टी के समर्थकों के बीच धर्मवीर गांधी की काफी पकड़ मानी जाती है।

सोशल मीडिया पर है AAP की टूट के चर्चे

ट्विटर और फेसबुक पर लोग खुलकर लिख रहे हैं कि अगर सिद्धू को सीएम बनाया गया तो AAP का टूटना पक्का है। साथ ही इससे निचले स्तर पर पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरेगा। देखिए इस बारे में कुछ लोगों की राय।

फिलहाल यह तो पक्का है कि नवजोत सिद्धू के आने की खबरों से आम आदमी पार्टी में सीएम पद के लिए घमासान तेज़ हो गया है। सिद्धू, भगवंत मान के अलावा एचएस फुल्का और कंवर संधू को भी सीएम पद के दावेदार के तौर पर देखा जाता है। ऐसे में नवजोत सिंह सिद्धू का शामिल होना पंजाब में चुनाव से ठीक पहले बड़ी मुसीबत की वजह भी बन सकता है।

छोटेपुर ने माना आप को तोडने वाले थे भगवंत मान!

एक निजी समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में आप पंजाब के प्रभारी पद से हाल ही में हटाये गए सुच सिंह छोटेपुर ने माना की भगवंत मान आप पंजाब तोड़ने जा रहे थे।

comments

Tags: , , , ,