मोदी के ‘मन की बात’ ने बदली आकाशवाणी की किस्मत

क्या आपको पता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो प्रोग्राम ‘मन की बात’ ने आकाशवाणी को मालामाल कर दिया है? लगातार घाटे में चलने वाले ऑल इंडिया रेडियो को ‘मन की बात’ सुनने वालों की बड़ी संख्या का फायदा मिल रहा है। इसे देखते हुए आकाशवाणी ने इस स्लॉट की विज्ञापन दरें ज्यादा रखी हैं। जिससे आकाशवाणी की कमाई में भारी इजाफा हुआ है। ‘मन की बात’ को शुरू हुए दो साल होने को हैं लेकिन रेडियो पर इसकी लोकप्रियता जस की तस है। क्षेत्रीय भाषाओं में इसके दोबारा प्रसारण को भी अच्छी खासी तादाद में लोग सुन रहे हैं।

रेडियो पर ब्लॉकबस्टर है ‘मन की बात’

मार्केटिंग कंपनियों को रेडियो की ताकत का एहसास काफी पहले से है। देश के दूर-दराज ग्रामीण इलाकों में सिर्फ आकाशवाणी की पहुंच है। ये वो क्षेत्र हैं जहां प्रिंट और टीवी विज्ञापनों की पहुंच लगभग न के बराबर है। चूंकि ‘मन की बात’ के बहाने महीने में एक रविवार के दिन श्रोताओं की संख्या लाखों और कभी-कभी करोड़ों में होती है। इसलिए यह विज्ञापन देने के लिए भी बेहतरीन मौका था।

‘मन की बात’ पर ज्यादा विज्ञापन दर

मोदी के कार्यक्रम की लोकप्रियता को भांपकर आकाशवाणी ने इस स्लॉट में एड रेट्स बढ़ा दिए। इस समय यह दर पिछले वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान के क्रिकेट मैच की लाइव कमेंट्री से भी ज्यादा है। प्रधानमंत्री के बोलना शुरू करने से पहले के ब्रेक में 10 सेकेंड के विज्ञापन के लिए 2 लाख रुपये से ज्यादा मिल रहे हैं। जबकि भारत के किसी क्रिकेट मैच के दौरान 10 से 15 हजार प्रति 10 सेकेंड की दर होती है। बाकी कार्यक्रमों के समय विज्ञापन की दरें तो और भी कम हैं। एफएम चैनल अपने कार्यक्रमों में 10 सेकेंड के 500 रुपये से 1500 रुपये लेते हैं।

अब रीजनल भाषाओं पर भी फोकस

आकाशवाणी के लिए सबसे हैरानी की बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रसारण के बाद क्षेत्रीय भाषाओं में उनके अनुवाद की भी काफी डिमांड है। अभी 14 भारतीय भाषाओं में 240 रेडियो स्टेशनों से भी इसका प्रसारण होता है। यह प्रसारण उसी दिन, लेकिन कुछ समय के बाद होता है। आकाशवाणी इन स्लॉट्स के लिए रीजनल विज्ञापनदाताओं पर फोकस कर रही है। इस रणनीति का भी काफी फायदा हुआ है। इसकी वजह से दूर-दराज के छोटे रेडियो स्टेशन भी सरकारी खजाने में फायदा भेजने लगे हैं।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , ,