इस मंदिर में 45 लाख रुपये के बाल चोरी हो गए!

सोने, चांदी और जवाहरात की चोरी की कहानियां आपने बहुत सुनी होंगी, लेकिन तमिलनाडु में एक मंदिर से 45 लाख रुपये कीमत के बाल चोरी हो गए। मंदिर में आने वाले श्रद्धालु अपना केश दान करवाकर जाते हैं। इन सारे बालों को इकट्ठा करके इन्हें बेच दिया जाता है। इंटरनेशनल मार्केट में इंसानी बालों की अच्छी खासी डिमांड है। चोरी की यह घटना तमिलनाडु के विरुधूनगर में बने प्राचीन मरियम्मन मंदिर की है। मंदिर प्रशासन ने लोकल लोगों पर ही चोरी का शक जताया है क्योंकि उन्हें ही यहां के रास्तों का अच्छी तरह से पता होगा।

चोर चुरा ले गए 800 किलो बाल!

400 साल से ज्यादा पुराने इस मंदिर के अंदर ये बाल एक स्टोर रूम में रखे गए थे। इन बालों की नीलामी होनी थी। अंदाजे के मुताबिक चोरी बालों की कीमत करीब 45 लाख रुपये थी। मंदिर प्रशासन ने पुलिस में इस चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी है। मंदिर के कर्मचारियों को इस चोरी के बारे में तब पता चला जब बीते शुक्रवार को उन्होंने मंदिर के स्टोर का दरवाजा खोला। यहां पर 80 बोरियों में बाल रखे गए थे और इनमें से 16 बोरियां गायब पाई गईं। 3 साल पहले भी मरियम्मन मंदिर प्रशासन ने बालों की नीलामी की थी, जिसमें उन्हें 3 करोड़ 33 लाख रुपये की आमदनी हुई थी। इसके बाद से अब दोबारा नीलामी की तैयारी हो रही थी। मंदिर प्रशासन को उम्मीद थी कि इस साल डबल कीमत पर बाल बिकेंगे। जिससे करीब 10 करोड़ रुपये तक की आमदनी होगी।

विग बनाने के काम आते हैं ये बाल

तमिलनाडु में तिरुपति जैसे मंदिरों में आने वाले भक्त अपनी प्रार्थना स्वीकार होने पर केश का दान करने आते हैं। इस तरह से हर रोज कई किलो बाल इन मंदिरों में चढ़ा दिए जाते हैं। इन इंसानी बालों की दुनिया भर में अच्छी खासी डिमांड है। कई देशों में इससे विग तैयार की जाती हैं। इसके अलावा बालों से कई केमिकल्स भी निकाले जाते हैं जिनका इस्तेमाल दवाओं में भी होता है।

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , , ,