मोदी कैसे पीएम हैं, जानने के लिए ये चैनल देखिए!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार देश के लिए क्या-क्या काम कर रही है यह बात भारतीय मीडिया कभी नहीं बताता, लेकिन उनके अच्छे कामों की चर्चा भारत से ज्यादा पाकिस्तानी मीडिया में है। हाल में प्रधानमंत्री की अमेरिका यात्रा और उस दौरान अमेरिकी कांग्रेस में दिए गए भाषण से पाकिस्तानी मीडिया मानो बौखलाया हुआ है। इन प्रोग्राम में आने वाले एक्सपर्ट भारत के प्रधानमंत्री की जमकर तारीफ कर रहे हैं। इनमें से कुछ प्रोग्रामों के वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे हैं।

एक सांस में गिना गए 2 साल की कामयाबियां

भारतीय पत्रकारों को अपने ही देश में हो रहे अच्छे कामों का जिक्र करने में भले ही शर्म महसूस होती हो, लेकिन पाकिस्तानी न्यूज़ चैनलों पर इसका पूरा ब्यौरा आपको मिल जाएगा। देखिए पीएम मोदी की अमेरिका यात्रा के बाद एक प्रोग्राम में आए मेहमान ने किस कदर अपनी भड़ास निकाली। यहां तक कि एंकर के पूछने पर एक्सपर्ट ने एक सांस में मोदी सरकार के 2 साल के सारे अच्छे काम गिना दिए। इनमें से कई अच्छे कामों का आपने अपने देश के किसी चैनल या अखबार पर जिक्र तक नहीं पाएंगे।

अमेरिका यात्रा से पाकिस्तान को मिर्ची

पीएम मोदी के अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित करने से भारत में उनके विरोधियों ही नहीं, पाकिस्तान के लोगों को भी बहुत बुरा लगा था। भारत में मोदी विरोधी जमात तो खुलकर बहुत कुछ नहीं बोल सकती थी, लेकिन पाकिस्तानी मीडिया ने अमेरिका में मोदी के कॉन्फिडेंस की तुलना अपने देश के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की यात्रा से की। नवाज शरीफ जब अमेरिका गए थे तो बराक ओबामा के आगे उनके पसीने छूट रहे थे। ये सारी बातें पाकिस्तानी मीडिया ने पूरे विस्तार से दिखाईं। नीचे का वीडियो देखकर आपको समझ में आएगा कि मोदी को लेकर पाकिस्तान की बेचैनी का असली राज क्या है।

मोदी के खिलाफ क्यों है भारतीय मीडिया

अब तक जब भी प्रधानमंत्री विदेश जाया करते थे तो वो अपने साथ एक जहाज भरकर भारत के पत्रकारों को ले जाया करते थे। पूरी यात्रा में उनके खाने-पीने और होटल का बिल सरकार ही चुकाया करती थी। इस पर टैक्सपेयर की जेब से हर साल करोड़ों रुपये खर्च होते थे। नई सरकार ने आने के बाद पत्रकारों की यह मुफ्तखोरी बंद करवा दी। मोदी से बड़े पत्रकारों की ख़िलाफ़त की बड़ी वजह यही है। प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं को लेकर होने वाली चुटकुलेबाजी के पीछे भी इन्हीं पत्रकारों का बड़ा हाथ होता है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,