कुरान के अपमान के पीछे केजरीवाल का दिमाग?

पंजाब के मलेरकोटला में कुरान फाड़कर हिंदू-मुस्लिम दंगे भड़काने की साज़िश में अब अरविंद केजरीवाल का नाम भी सामने आ रहा है। यह सवाल उठ रहा है कि क्या आम आदमी पार्टी का कोई विधायक सिर्फ अपने मन से इतने बड़े मंसूबे बना सकता है? लिहाजा पुलिस इस एंगल से भी जांच कर रही है। फिलहाल विजय कुमार, नंदकिशोर और गौरव नाम के आरोपियों से पूछताछ चल रही है। पुलिस चाहती है कि आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश यादव की गिरफ्तारी पक्के सबूतों के बाद की जाए। क्योंकि पुलिस की जरा सी चूक का भी वह सियासी इस्तेमाल कर सकते हैं।

AAP विधायक के खिलाफ मिले हैं पक्के सबूत!

विजय और विधायक में होती थी बात: पंजाब पुलिस के सूत्रों के मुताबिक आरोपी और विधायक के बीच फोन पर बातचीत के सबूत मिले हैं। हालांकि विधायक नरेश यादव कह रहे हैं कि यह बातचीत किसी दूसरे काम के लिए होती थीं। सवाल यह है कि इतने खतरनाक इरादों वाले एक शख्स से केजरीवाल के विधायक आखिर किस काम के लिए इतनी बातचीत कर रहे थे।

एसएमएस और मैसेजिंग पर भी बात: फोन कॉल के अलावा नरेश यादव और विजय कुमार की बातचीत एसएमएस और चैटिंग पर भी होती रहती थी। हमारे सूत्रों के मुताबिक आरोपियों के फोन से इसके सबूत हासिल किए गए हैं। यह सारी बातचीत कोड में है।

सीसीटीवी वीडियो में दिखे आरोपी: सूत्रों के मुताबिक विधायक के घर के पास सीसीटीवी तस्वीरों में भी आरोपी दिखाई दिए हैं। पुलिस अभी इन्हें सामने नहीं ला रही है, लेकिन कोर्ट में इन सारे सबूतों को पेश किया जाएगा।

दंगों की साज़िश के पीछे कौन?

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि सीएम केजरीवाल ही घटना के असली मास्टरमाइंड हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उधर आम आदमी पार्टी और दूसरी पार्टियां आरोप लगा रही हैं कि पकड़े गए 3 में से एक विश्व हिंदू परिषद का नेता है। लेकिन वीएचपी के जिस नंदकिशोर नाम के व्यक्ति को पकड़ा गया है उसके सीधे तौर पर इस घटना में शामिल होने का कोई सबूत नहीं है। पंजाब पुलिस जल्द ही इस बारे में ज्यादा जानकारी देने वाली है।

कौन है विजय कुमार?

मामले का मुख्य आरोपी विजय कुमार दिल्ली का बिजनेसमैन है। पकड़े जाने के बाद उसने कहना शुरू कर दिया कि वो पठानकोट हमले का बदला लेना चाहता था। लेकिन पुलिस इस थ्योरी पर बहुत भरोसा नहीं कर पा रही है। क्योंकि कुरान के बाद वो हिंदू आबादी वाले इलाकों में जाकर हिंदू धर्म ग्रंथों को फाड़ने की भी तैयारी में था। इस सबके दौरान विजय कुमार सीधे AAP विधायक नरेश यादव के संपर्क में था। जाहिर है कुरान के अपमान की इस घटना के पीछे असल वजह कुछ और ही है। खुद विजय कुमार भी कबूल रहा है कि उसे एक करोड़ रुपये का लालच दिया गया था जिसकी वजह से उसने ऐसा किया। गिरफ्तारी के बाद दिल्ली में विजय की ऑडी कार से भी कुरान के कुछ फटे हुए पन्ने बरामद किए गए हैं।

AAP की एंट्री से है कनेक्शन?

पंजाब में धार्मिक ग्रंथों के अपमान की सियासत बीते कुछ समय से चल रही है। यह वही समय था जब पंजाब चुनाव में आम आदमी पार्टी के उतरने का एलान हुआ था। कुछ दिन पहले गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान की घटनाओं की वजह से पूरा पंजाब उबल पड़ा था। इन घटनाओं का मास्टरमाइंड आजतक पकड़ा नहीं जा सका है। यह पहली बार है जब कोई आरोपी पुलिस के हाथ लगा है। जाहिर है इस साजिश से जुड़े कई सवाल आने वाले दिनों में आम आदमी पार्टी और उसके सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को देने पड़ेंगे।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,

Don`t copy text!