जयपुर BMW कांड में मीडिया ने ऐसे चलाया एजेंडा

बीजेपी के खिलाफ मीडिया का गेम जारी है। शुक्रवार देर रात जयपुर में सीकर से निर्दलीय विधायक नंद किशोर महारिया के बेटे ने BMW कार से तीन लोगों की जान ले ली। इसके बाद ही मीडिया ने जो खेल खेला वो चौंकाने वाला है। तमाम बड़े अखबारों और चैनलों ने वेबसाइट्स और सोशल मीडिया के जरिए खबर उड़ाई कि जयपुर में भाजपा के विधायक ने बीएमडब्लू से तीन लोगों की जान ले ली।

जानबूझकर झूठी खबर चलाई गई

खुद को देश का सबसे भरोसेमंद अखबार बताने वाले इंडियन एक्सप्रेस ने तो हद ही कर दी। अखबार ने ट्वीट करके खबर दी कि बीजेपी विधायक ने बीएमडब्लू से लोगों को रौंदा है। जब बीजेपी के नेता अरविंद गुप्ता ने इस ट्वीट पर बताया कि वो विधायक बीजेपी के नहीं, बल्कि निर्दलीय हैं तो भी अखबार ने इस खबर पर न तो माफी मांगने की जरूरत समझी और न ही इसे हटाया।

इंडियन एक्सप्रेस ही नहीं, तमाम बड़े अखबारों और चैनलों ने सोशल मीडिया के जरिए इस झूठ को फैलाया कि आरोपी बीजेपी विधायक का बेटा है।

सोशल मीडिया पर की गई साज़िश

जब हमने इस खबर की पड़ताल के लिए ट्विटर ट्रेंड की जांच की तो पता चला कि शेयर बाजार से जुड़े कुछ फेक ट्विटर हैंडल के नाम से इस बारे में सैकड़ों ट्वीट किए गए थे। इनमें जानबूझकर विधायक को बीजेपी का बताया गया था। इसे देखकर लग रहा है कि शायद किसी मीडिया हाउस ने अपनी सोशल मीडिया टीम की मदद से इस झूठ को जोरशोर से फैलाने की कोशिश की थी। इन्हीं ट्वीट्स में से एक आप नीचे देख सकते हैं।

आम आदमी पार्टी को मिला मौका

मीडिया ने बीजेपी का नाम जोड़कर विपक्षी नेताओं को हमले बोलने का मौका दे दिया। देखिए कैसे आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने बिना कुछ जाने-समझे इस मामले पर राजनीति शुरू कर दी।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , , ,