देख लीजिए कोटा जाकर क्यों खुदकुशी करते हैं बच्चे!

राजस्थान के कोटा में देश भर से लोग अपने बच्चों को इंजीनियरिंग की कोचिंग के लिए भेजते हैं। लेकिन वहां पर उनके साथ जो कुछ होता है उसकी शायद आप कल्पना भी नहीं कर सकते। कोटा में कोचिंग माफिया की बात आप अक्सर सुनते होंगे, लेकिन पहली बार एक कोचिंग इंस्टीट्यूट के मालिक का वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को देखकर आप समझ जाएंगे कि कोटा के कोचिंग इंस्टीट्यूट बच्चों पर कितना दबाव बनाते होंगे, कि उन्हें अपनी जान देने को मजबूर हो जाना पड़ता है।

अगर कोई टीचर खुद को महान समझता है तो एलेन छोड़कर महानता साबित करके दिखाओ… नचाके रख दूंगा… चक्कर में मत पड़ना। पहले जो गए माफी मांगते फिर रहे हैं… क्या समझ रखा है ऐसे ही हूँ। बहुत तरीके है कहीं का नहीं छोड़ूंगा। डॉन हूँ मैं इस फील्ड का डॉन।

एलेन कोचिंग के मालिक का वीडियो

यूट्यूब पर कुछ लोगों ने एलेन कोचिंग इंस्टीट्यूट के मालिक राजेश माहेश्वरी का एक वीडियो अपलोड किया है। इस वीडियो में माहेश्वरी इंस्टीट्यूट के टीचरों के आगे भाषण दे रहा है। वो उनके तालिबान के अंदाज में फरमान सुना रहा है और कह रहा है कि मैं कोचिंग इंडस्ट्री का डॉन हूं। वीडियो देखकर लग रहा है कि कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ाने वाले टीचरों ने सैलरी बढ़ाने की मांग की थी, जिस पर राजेश माहेश्वरी आपा खो बैठा। वो टीचरों को नौकरी से निकालने की धमकी दे रहा है। इस दौरान वो किसी सनकी की तरह दलीलें दे रहा है। उसका कहना है कि “आपके खून में एलेन बहना चाहिए। आपके अंदर ‘एलनत्व’ होना चाहिए। अगर किसी ने मेरे खिलाफ आवाज़ उठाई तो मैं उसको नचा दूंगा।”

कोचिंग के नाम पर करोड़ों का धंधा

कोटा में कोचिंग माफिया अक्सर सुर्खियों में रहता है। एक अनुमान के मुताबिक यहां 2000 करोड़ रुपये से ज्यादा का बिजनेस होता है। हर साल आईआईटी-जेईई के लिए सेलेक्ट होने वाले छात्रों में बड़ा हिस्सा कोटा का होता है। हालांकि आरोप लगता है कि यहां के कोचिंग माफिया ने मीडिया के दम पर यह माहौल बना रखा है। राजेश माहेश्वरी के एलेन कोचिंग का नंबर इसमें सबसे आगे हैं। राजेश माहेश्वरी ने मीडिया से लेकर कई स्कूलों तक से साठगांठ कर रखी है। वो अखबारों में अपने इंस्टीट्यूट की कामयाबी की झूठी खबरें छपवाता है और उसके नाम पर बच्चों से मोटी फीस वसूलता है। एलेन और दूसरे कई कोचिंग संस्थानों में इंजीनियरिंग में सेलेक्शन के नाम पर छात्रों से बाकायदा पैकेज डील किया जाता है।

कुछ दिन पहले पत्रिका इंडिया टुडे ने भी कोचिंग माफिया राजेश माहेश्वरी का महिमामंडन किया था। बताते हैं कि माहेश्वरी ने लाखों रुपये खर्च करके इसे छपवाया था।

comments

Tags: , , ,